इंटरनेशनल

जिनपिंग बने रह सकते हैं आजीवन राष्ट्रपति, चीन में संविधान संशोधन को मिली मंजूरी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
572
| मार्च 11 , 2018 , 14:34 IST

चीन की संसद ने रविवार को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति पद के लिए दो कार्यकाल की निर्धारित सीमा को खत्म कर दिया। इसके बाद वर्तमान चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के आजीवन राष्ट्रपति बने रहने का रास्ता साफ हो गया। चीन की संसद ने दो कार्यकाल की अनिवार्यता को दो तिहाई बहुमत से खत्म किया है। सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (CPC) द्वारा प्रस्तावित संशोधन को संसद से मंजूरी मिलना तय ही माना जा रहा था।

पार्टी के प्रस्तावों को समर्थन करते रहने के कारण करीब तीन हजार सदस्यों वाली संसद नेशनल पीपल्स कांग्रेस को अक्सर रबर स्टांप संसद कहा जाता है। संसद के सालाना सत्र के पहले सीपीसी ने राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के लिए दो कार्यकाल की सीमा को हटाने का प्रस्ताव किया था।

बता दें कि माओत्से तुंग की तरह अनिश्चित काल तक फिर किसी के द्वारा सत्ता हथियाने के खतरे को देखते हुए सम्मानित नेता देंग शियोपिंग ने चीन में राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के लिए दो अधिकतम कार्यकाल यानी 10 साल तक सत्ता में रहने की सीमा तय कर दी थी। हालांकि, रविवार को हुए संवैधानिक बदलाव के साथ ही 64 वर्षीय शी का आजीवन चीनी राष्ट्रपति बने रहने का रास्ता प्रशस्त हो गया। अभी उनका दूसरा कार्यकाल चल रहा है जो 2023 में खत्म होगा।


कमेंट करें