खेल

इंग्लैंड के खिलाफ जमकर बरसे गेल, 'युनिवर्सल बॉस' की विध्वंसक पारियों में टूट गए कई रिकॉर्ड

आशुतोष कुमार राय, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1788
| मार्च 3 , 2019 , 11:48 IST

युनिवर्सल बॉस के नाम से क्रिकेट की दुनिया में जाने जाने वाले धुरंधर कैरेबियाई बल्लेबाज क्रिस गेल ने वर्ल्ड कप के बाद सन्यास की घोषणा तो कर दी है लेकिन इस घोषणा के बाद से उनका तेवर और भी खतरनाक हो गया है। जी हां! गेल जब क्रिच पर होते हैं तो बॉलरों का चेहरा देखने लायक होता है पर इंग्लैंड की सीरीज में तो गेल ने जो छक्कों की झड़ी लगाई है क्रिकेट जगत में उसके आस पास भी कोई नही दिखाई दे रहा है।

39 साल के गेल ने इंग्लैंड के खिलाफ ग्रॉस आइलेट में सीरीज के पांचवें और अंतिम वनडे मुकाबले में 27 गेंदों में 77 रनों की तूफानी पारी खेली, जिसमें उनके 9 छक्के शामिल रहे। रिकॉर्ड ऐसे जिन्हें गेल ने ही बनाया और उसे उन्होने ही तोड़ा भी...उन्होंने सीरीज में ताबड़तोड़ धमाके कर अपने ही रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया है।

ICC रैंकिंग में नंबर 1 की टीम इंग्लैंड के खिलाफ जब गेल का बल्ला आग उगला तो आगे पीछे भी कोई नही दिखाई दिया। सीरीज में तो इंग्लैंड भी अपना दबदबा बनाने की कोशिश की पर एक तरफ पूरी टीम बारी-बारी से खेलते दिखी तो दूसरी तरफ से मोर्चा लेने के लिए अकेले ही गेल खड़े रहे।

इंग्लैंड के खिलाफ 5 वनडे मैचों की सीरीज की 4 पारियों में उन्होंने कुल 39 छक्के जड़े. कमाल की बात तो यह है कि क्रिकेट के किसी भी फॉर्मेट ( टेस्ट/वनडे/ टी-20 इंटरनेशनल पुरुष या महिला/ अंडर 19) की सीरीज या टूर्नामेंट में अब तक किसी खिलाड़ी ने इतने छक्के नहीं बरसाए थे।

इससे पहले उन्होंने वर्ल्ड कप-2015 की 6 पारियों में 26 छक्के उड़ाए थे। 'हिटमैन' रोहित शर्मा ने 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 6 पारियों में 23 छक्के जमाए हैं और वह इस मामले में तीसरे स्थान पर हैं।

टूर्नामेंट में सर्वाधिक छक्के :

39 क्रिस गेल vs इंग्लैंड, 2019 (4 पारियां)

26 क्रिस गेल (वर्ल्ड कप 2015), (6 पारियां)

23 रोहित शर्मा vs ऑस्ट्रेलिया, 2013 (6 पारियां)

मौजूदा सीरीज में क्रिस गेल की धमाकेदार पारियां-:

135 रन (129 गेंदों में), 12 छक्के :

50 रन (63 गेंदों में ), 4 छक्के

162 रन (97 गेंदों में), 14 छक्के

77 रन (27 गेंदों में), 9 छक्के

वनडे में इंग्लैंड की टीम 28.1 ओवरों में महज 113 रनों पर सिमट गई और वेस्टइंडीज ने 227 गेंदें शेष रहते 3 विकेट खोकर जीत का लक्ष्य (115/3, 12.1 ओवरों में ) हासिल कर लिया। इसके साथ ही इंग्लैंड को अपने वनडे इतिहास में सबसे ज्यादा गेंदें शेष रहते मात मिली। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने उसे 2003 में 226 गेंदें शेष रहते सिडनी में 10 विकेट से हराया था।

वेस्टइंडीज ने इसके साथ 30 मई से शुरू हो रहे वनडे वर्ल्ड कप के मेजबान को सीरीज में बराबरी पर रोककर इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के लिए अपनी मजबूत दावेदारी पेश कर ली है।

 


कमेंट करें