नेशनल

कुरुक्षेत्र में तिरुपति मंदिर का उद्घाटन, आधारशिला रखने वाले नवीन जिंदल ने कहा- सरकार कोई भी हो, अच्छे काम रुकने नहीं चाहिए

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
2824
| जुलाई 1 , 2018 , 21:44 IST

धर्मनगरी कुरुक्षेत्र में श्री वेंकटेश्वर भगवान बालाजी के भव्य मंदिर का उद्घाटन हो गया। ब्रह्मसरोवर के तट पर बने इस मंदिर में भगवान बालाजी की विशाल प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा की गई। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने विशेष पूजा अर्चना कर मंदिर का उद्घाटन किया।

पहले दिन बड़ी संख्या में श्रद्धालु वेंकटेश्वर भगवान के दर्शन करने के लिए मंदिर पहुंचे। दरअसल, धर्मनगरी कुरुक्षेत्र में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के मकसद से तत्कालीन सांसद नवीन जिंदल ने कुरुक्षेत्र में श्री वेंकटेश्वर भगवान बालाजी के मंदिर की परिकल्पना की थी। इसके लिए उन्होंने हरियाणा सरकार को जमीन देने के लिए राजी किया। नवीन जिंदल के प्रयासों से ही श्री तिरुमला तिरुपति देवस्थानम ट्रस्ट ने धर्मनगरी कुरुक्षेत्र में भगवान बालाजी का मंदिर बनाने की योजना तैयार की।

मंदिर का उद्धाटन होने पर आधारशिला रखने वाले नवीन जिंदल ने हरियाणा सरकार का आभार जताया है। नवीन जिंदल का कहना है कि सरकार कोई भी हो, अच्छे काम कभी रुकने नहीं चाहिए।

बता दें कि इस मंदिर को अत्यंत पारंपरिक तरीके से बनाया गया है। आंध्र प्रदेश के तिरुपति के बाद दुनिया में यह दूसरा तिरुपति बालाजी मंदिर है। मंदिर निर्माण में योगदान के लिए हरियाणा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर ने नवीन जिंदल को बधाई दी और उनके प्रयासों की सराहना की।

कांग्रेस सांसद दीपेंदर सिंह हुड्डा ने भी सभी हरियाणावासियों को धर्मस्थली कुरुक्षेत्र में तिरुपति बालाजी के मंदिर के निर्माण की बधाई दी। साथ ही नवीन जिंदल के इस अथक प्रयासों की सराहना की।

आपको बता दें कि नवीन जिंदल भगवान वेंकटेश्वर के उपासक हैं। 14 अगस्त 2012 को हरियाणा के तत्कालीन राज्यपाल जगन्नाथ पहाड़िया, तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और तत्कालीन सांसद नवीन जिंदल ने इस मंदिर का शिलान्यास किया।

लगभग 6 साल के अरसे के बाद ये भव्य मंदिर बना है। तिरुमला की तर्ज पर ही इस मंदिर को बनाया गया है। इस मंदिर के निर्माण के लिए नवीन जिंदल ने तिरुमला ट्रस्ट को दान के रुप में 1 करोड़ रुपये की राशि दी थी।

36472511_10155330131161046_3067579296227786752_n

(फाइल फोटो)

इस मंदिर के निर्माण के लिए कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड ने 2 हेक्टेयर से भी ज्यादा जमीन तिरुमला तिरुपति देवस्थानम ट्रस्ट को दी है। इस जमीन पर करीब 34 करोड़ रुपए की लागत से यह भव्य मंदिर बनकर तैयार हुआ है। परिसर में अभी और भी निर्माण होना है। मंदिर के नोडल ऑफिसर प्रेम चन्द गांगल का कहना है कि वेंकटेश्वर भगवान के लिए भव्य राज प्रसाद और कई अन्य और भवन बनने हैं। फलस्वरुप इसकी लागत 40 करोड रुपए से भी ऊपर जाने की संभावना है।

इस भव्य मंदिर में 1500 टन पत्थर तराश कर लगाया गया है। यह तमाम पत्थर तिरुमला की पहाड़ियों से तराश कर कुरुक्षेत्र लाया गया। 


कमेंट करें