राजनीति

अधिवेशन में राहुल को मिली ताकत, अब खुद तय करेंगे CWC के सदस्यों का नाम

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
426
| मार्च 18 , 2018 , 14:26 IST

देश की सबसे पुरानी पार्टी की कमान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के हाथों में है। रविवार को कांग्रेस के महाधिवेशन में पीसीसी डेलिगेट और एआईसीसी के सदस्य मौजूदगी में कार्यसमिति के सदस्यों के चुनने के अधिकार पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को दिए जाने वाले प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पास कर दिया गया है। अब जल्द ही कांग्रेस के कार्यसमिति (CWC) के सदस्यों की नाम पर मुहर लगा सकते हैं। इसका मतलब साफ है कि राहुल अब अपनी टीम के सदस्यों के नाम खुद तय करेंगे।

पार्टी में अहम फैसले लेने वाला शीर्ष निकाय है CWC

गौरतलब है कि कांग्रेस में कार्यसमिति ही अहम फैसले लेने वाला शीर्ष निकाय है। इसलिए पार्टी का हर दिग्गज नेता कार्यसमिति के सदस्यों में अपना नाम देखना चाहता है। रविवार को कांग्रेस की नई कार्यसमिति के सदस्यों के नाम चयन करने का अधिकार राहुल को सर्वसम्मति से सौंप दिया गया है।

अब राहुल मनोनित करते कार्यसमिति के 24 सदस्य

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी के सामने एक अहम काम पार्टी कार्यसमिति के गठन को अंजाम देना है। कार्यसमिति में कांग्रेस अध्यक्ष समेत कुल 25 सदस्य होते हैं। इनमें 12 सदस्य मनोनीत होते हैं और 12 का चुनाव होता है।
कांग्रेस के प्लेनरी सेशन में पार्टी की कार्यसमिति के सभी सदस्यों को मनोनीत करने का अधिकार राहुल को सौंप दिया गया है। हालांकि आमतौर पर कांग्रेस अध्यक्ष ही CWC मेंबर्स को मनोनीत करते हैं। कांग्रेस के सभी AICC सदस्यों ने राहुल को CWC मेंबर्स के लिए अधिकृत किया। राहुल गांधी अब 24 सदस्य मनोनीत करेंगे। इस तरह12 कार्यसमिति के सदस्यों के लिए चुनाव नहीं कराए जाएंगे।

पहले से ही माना जा रहा था कि पार्टी की कोशिश यही थी कि, एआईसीसी मेंबर ही सभी कार्यसमिति के सदस्यों को चुनने का अधिकार एक सुर से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सौंप दें, फिर राहुल अपनी कार्यसमिति का गठन अपने हिसाब से करें। कांग्रेस के अनुमान के मुताबिक हुआ और कार्यसमिति के सदस्यों के चुनने का अधिकार राहुल को सौंप दिया गया।

 


कमेंट करें