नेशनल

चीफ जस्टिस महाभियोग: नायडू के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
897
| मई 7 , 2018 , 14:42 IST

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ विपक्ष की ओर से महाभियोग नोटिस को उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू की तरफ से खारिज करने का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। कांग्रेस के दो राज्यसभा सांसदों ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में वेंकैया नायडू के इस फैसले को चुनौती दी है।  

याचिकाकर्ता प्रताप सिंह बाजवा और अमी यागनिक ने अपनी याचिका में यह दलील दी है कि एक बार जब सांसदों की तरफ से दस्तखत किए गए महाभियोग नोटिस राज्यसभा के चेयरमैन के पास भेज दिया जाता है उसके बाद उन पर लगे आरोपों की जांच के लिए एन्क्वायरी कमेटी गठित कराने के अलावा कोई और विकल्प नहीं बचता है।

गौरतलब है कि कांग्रेस और छह अन्य विपक्षी दलों ने पिछले महीने दुर्व्यवहार के पांच आरोपों के आधार पर प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग नोटिस दिया था। भारतीय इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ ऐसा नोटिस दिया गया हो। हालांकि, नायडू ने आरोपों की मैरिट में कोई दम नहीं होने की बात कह कर उसे खारिज कर दिया था।

इससे पहले 23 अप्रैल को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने नायडू के आदेश को अप्रत्याशित, गैरक़ानूनी और बिना सोचे समझे लिया गया फैसला करार दिया था। इसके साथ ही, उन्होंने इस बात पर ज़ोर देते हुए कहा था कि उनकी पार्टी सुप्रीम कोर्ट में इस फैसले को चुनौती देगी।

क्यों उठी महाभियोग की मांग?

आपको बता दें कि कुछ महीने पहले सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जस्टिस जस्टिस जे चेलमेशवर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसफ ने मीडिया के सामने आकर सीजेआई दीपक मिश्रा की प्रशासनिक कार्यशैली पर सवाल उठाए थे. इसके बाद कांग्रेस, वामदलों ने महाभियोग की तैयारी शुरू की थी. हालांकि समर्थन नहीं मिलने की वजह से पैर पीछे खींच लिये थे. अब एक बार फिर जज बी एच लोया मामले में कांग्रेस और वामदल बैकफुट पर है ऐसे में विपक्षी पार्टियां महाभियोग पर विचार कर रही है.

 


कमेंट करें