नेशनल

तेल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ सोमवार को कांग्रेस का भारत बंद, 21 दलों ने किया समर्थन

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
2073
| सितंबर 9 , 2018 , 20:05 IST

देश में लगातार बढ़ रहे पेट्रोल-डीजल के दामों के खिलाफ कांग्रेस पार्टी ने सोमवार यानि 10 सितंबर को भारत बंद का ऐलान किया है। कांग्रेस के इस बंद को डीएमके, एनसीपी, आरजेडी और जेडीएस सहित 21 दलों का समर्थन मिला है। कांग्रेस पार्टी ने कई एनजीओ और सिविल सोसाइटी ग्रुप से भी इस राष्ट्रव्यापी बंद में शामिल होने का आह्वान किया है।

सुबह 9 बजे से लेकर 3 बजे तक रहेगा भारत बंद

कांग्रेस का भारत बंद सुबह 9 बजे से लेकर 3 बजे तक के बीच में रहेगा। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने ने कहा है कि समय ऐसा रखा गया है, जिससे कि आम लोगों को असुविधा नहीं होगी। वही माना जा रहा है कि देश में कई जगहों पर पेट्रोल पंपों को भी बंद रखा जा सकता है।

समर्थन में कौन-कौन?

कांग्रेस के भारत बंद को कई अन्य पार्टियां भी समर्थन कर रही हैं। बंद का समर्थन करने वाले दलों में तमिलनाडु की डीएमके, कर्नाटक की जेडीएस, लालू यादव की पार्टी आरजेडी, समाजवादी पार्टी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), राज ठाकरे की मनसे सहित कई वामपंथी दल भी भारत बंद में कांग्रेस का समर्थन करेंगे।

कौन नहीं कर रहा है समर्थन

वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पार्टी ने इस बंद का विरोध करने का निर्णय लिया है। राज्य सरकार ने एक आदेश जारी कर कहा है कि किसी भी सरकारी कर्मचारी को कैजुएल लीव नहीं दी जाएगी। वहीं गोवा कांग्रेस ने भी बंद का विरोध करने का निर्णय लिया है। वही बीजू जनता दल (बीजद) ने भी समर्थन देने से इंकार कर दिया है। बीजद प्रवक्ता सष्मित पात्रा ने कहा है कि उनकी पार्टी ना तो वह भारत बंद के समर्थन में हैं और न ही इसके खिलाफ। उन्होंने कहा कि पेट्रोल के दाम तो लगातार ही बढ़ रहे हैं लेकिन कांग्रेस पिछले साढ़े चार से सो रही थी तो अब अचानक क्यों जाग गई।

इन राज्यों में होगा बंद का व्यापक असर

भारत बंद का व्यापक असर उन राज्यों में अधिक दिखेगा जहां कांग्रेस सत्ता से बाहर है या फिर बीजेपी सत्ता में हैं। महाराष्ट्र, बिहार, कर्नाटक, ओडिशा, तमिलनाडु जैसे राज्यों में बंद का व्यापक असर दिख सकता है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें