राजनीति

"चौकीदार सो रहा और चोर खो गया है", PNB Scam पर कपिल सिब्बल

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
806
| फरवरी 17 , 2018 , 17:02 IST

पीएनबी में 11,300 करोड़ रुपये के घोटाले को लेकर सियासी पारा चढ़ता दिखाई दे रहा है। 

शनिवार को पहले कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने प्रेस कॉन्फ्रेस कर हमले की शुरुआत की। सिब्बल ने कहा कि पीएम और वित्त मंत्री की जानकारी के बिना इतना बड़ा घोटाला नहीं सकता है।

वहीं, इसके बाद केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने जवाबी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस के बड़े नेताओं पर इस घोटाले में शामिल होने का बड़ा आरोप लगाया।

सीतारमण ने कहा कि कांग्रेस की यही रणनीति है। यूपीए ने इस घोटाले को दबाने की कोशिश की थी। उन्होंने कहा कि 2013 में इस घोटाले के खिलाफ उठी आवाज को वित्त मंत्रालय की ओर से दबा दिया गया।

राहुल गांधी इस जूलरी ग्रुप के प्रमोशन इवेंट में शामिल हुए थे। उन्होंने कहा कि नीरव मोदी ने कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी के बेटे को फायदा पहुंचाया। उन्होंने कहा कि यह मोदी सरकार है, जिसने इस घोटाले की तह में जाने की कोशिश की।

कांग्रेस पर बरसते हुए सीतारमण ने कहा, 'कांग्रेस नेताओं ने गीतांजलि कंपनी को प्रमोट किया, उसको बिल्डिंग दी और आरोप हमारे ऊपर डाल रहे हैं।

नीरव मोदी की कंपनी के लोन की शर्तें भी यूपीए सरकार ने आसान बनाईं।' उन्होंने कहा कि सरकार इस मामले में कार्रवाई कर रही है।
इससे पहले बीजेपी पर हमला करते हुए सिब्बल ने कहा, 'हमारे देश के जो चौकीदार हैं वो पकौड़े बनाने की सलाह दे रहे हैं। आज परिस्थिति यह है कि चौकीदार सो रहा और चोर भाग गया।'

सिब्बल ने पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा, 'पीएम मोदी अपने साथ ऑफिशल दौरों पर ट्रैवल करने वाले लोगों के नाम का खुलासा क्यों नहीं करते हैं?

क्या इसी ईज ऑफ डूइंग बिजनस की बात पीएम करते हैं?' बता दें कि दावोस में पीएनबी स्कैम के मुख्य आरोपी नीरव मोदी के साथ पीएम मोदी की एक ग्रुप फोटो घोटाले के खुलासे के बाद काफी वायरल हो गई थी। कांग्रेस ने इसी फोटो के आधार पर बीजेपी पर हमला बोला है।

सिब्बल ने बीजेपी पर अर्थव्यवस्था की हालत खराब करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, 'मैं बीजेपी को चैलेंज करता हूं कि वो अपने शासन और यूपीए के शासन पर आकर हमसे बहस करे।

बैंकों ने नियमों के विपरीत जाकर इतने बड़े लोन कैसे बांट दिए? लोन डिफॉल्टर्स के खिलाफ सरकार ने कारर्वाई क्यों नहीं की? अगर भारत की अर्थव्यवस्था इस घोटाले का बुरा असर पड़ता है तो निवेशकों का भरोसा टूटेगा।'

आपको बता दें कि नीरव मोदी और मेहुल चौकसी पर पीएनबी से 11,300 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप है। मामला सामने आने के पहले ही नीरव मोदी देश छोड़ चुका है और उसके न्यू यॉर्क में होने की खबरें आ रहीं है।


कमेंट करें