राजनीति

राहुल गांधी का PM मोदी पर तंज, कहा- 'हर चीज में लीक है, चौकीदार वीक है'

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
577
| मार्च 29 , 2018 , 16:27 IST

सीबीएसई पेपर लीक मामला गरमाता जा रहा है। दिल्ली के जंतर मंतर पर छात्रों का प्रदर्शन जारी है। इसी बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। राहुल गांधी ने गुरूवार को ट्वीट कर सरकार को घेरा। उन्होंने लिखा- कितने लीक? डेटा लीक, आधार लीक, ssc Exam लीक, CBSE Exam पेपर्स लीक। आगे वो लिखते हैं, 'हर चीज़ में लीक है चौकीदार वीक है।' साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष ने हैशटैग बस एक और साल का भी इस्तेमाल किया है।

बता दें कि पिछले कुछ समय में राहुल गांधी की ट्विटर पर सक्रियता काफी बढ़ी है और वह लगातार पीएम मोदी और केंद्र सरकार को घेरते रहते हैं। राहुल का ट्वीट कर मोदी सरकार पर हमला करना कोई नया नहीं है राहुल अक्सर ट्वीट कर सरकार को निशाने पर लेते है। इससे पहले राहुल ने एक ट्वीट किया था जो बहुत चर्चा में था।

राहुल ने इससे पहले मोदी ऐप पर सवाल उठाए थे। अपने ट्वीट में उन्होंने खुद को नरेंद्र मोदी बताया था। उन्होंने लिखा था, "मैं नरेंद्र मोदी हूं और मेरी ऐप को डाउनलोड करने वालों का डेटा में अमेरिका में अपने दोस्त को देता हूं।"

दिल्ली पुलिस- कोचिंग सेंटरों का पेपर लीक में हो सकता है हाथ:

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी आर पी उपाध्याय ने कहा कि इस संबंध में दो केस दर्ज किए गए हैं और एसआई का गठन किया गया है। अब तक 25 लोगों से पूछताछ की गई है। दोनों पेपर एक्जाम से एक दिन पहले वाट्सऐप पर लीक किए गए। अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

दिल्ली पुलिस ने कहा कि उन्हें शक है कि दिल्ली के कोचिंग सेंटरों का पेपर लीक में हाथ हो सकता है। गुरुवार को पुलिस ने द्वारका, रोहिणी, राजेंद्र नगर स्थित कोचिंग सेटरों पर छापेमारी की। जांच से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली विश्वविद्यालय में पढ़ाई कर चुका एक व्यक्ति कोचिंग सेंटर चला रहा था और उसके इस लीक में शामिल होने की शंका है।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी ने कहा कि दो पेपर लीक होने के अलावा कोई अन्य पेपर लीक होने की खबर नहीं है। एक अधिकारी ने बताया, 'अभी ये कहना जल्दबाजी होगी कि इसमें सीबीएसई का कोई अधिकारी शामिल है ये नहीं, लेकिन जांच में इस तरह का कोई संकेत नहीं मिला है।

हमने छात्रों और कोचिंग सेंटर में पढ़ा रहे टीचर्स से बात की है जिन्हें पेपरी की कॉपी मिली है। ताकि पता कर सकें कि लीक का स्रोत क्या था।'


कमेंट करें