राजनीति

लोकपाल पर ढकोसला नहीं करेगी कांग्रेस : मल्लिकाअर्जुन खड़गे

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
986
| मार्च 1 , 2018 , 13:26 IST

गुरुवार को होने वाली लोकपाल सिलेक्शन कमेटी की बैठक में कांग्रेस हिस्सा नहीं लेगी। कांग्रेस ने सरकार के बुलावे को ठुकरा दिया है। कांग्रेस नेता मल्लिकाअर्जुन खड़गे ने लेटर लिखकर पीएम मोदी से कहा है कि सरकार विपक्ष की आवाज़ को दबा रही है। 

लोकपाल पर ढकोसला नहीं करेगी कांग्रेस 


खड़गे ने अपने लेटर में लिखा,

"हिस्सा लेने के हक के बगैर विशेष आमंत्रित व्यक्ति के तौर पर मेरी उपस्थिति, मेरे विचार दर्ज करना और मतदान करना प्रकट रूप से ढकोसला होगा, जिसका लक्ष्य यह दिखाना है कि चयन प्रक्रिया में विपक्ष ने हिस्सा लिया था।"

खड़गे ने आगे लिखा,

"इन परिस्थितियों में लोकपाल अधिनियिम 2013 की पवित्रता को बनाए रखने के लिए मुझे विशेष आमंत्रित व्यक्ति के निमंत्रण को जरूर अस्वीकार करना चाहिए क्योंकि मौजूदा प्रक्रिया ने एक प्रवित्र कार्यपद्धति को राजनीतिक उपस्थिति मात्र तक सीमित कर दिया है।"

खड़गे ने लेटर में लिखा है कि लोकपाल और लोकायुक्त कानून 2013 में चयन समिति में "विपक्ष के नेता" काे रखने का प्रावधान है और उसे "विशेष आमंत्रित" से नहीं बदला जा सकता।

उन्होंने कहा कि यह हैरान करने वाला है कि सरकार लोकपाल की नियुक्ति में सार्थक और रचनात्मक भागीदारी तय करने के बजाय सिर्फ कागजी औपचारिकता निभा रही है। 
लोकपाल कानून के मुताबिक, लोकपाल की चयन समिति में प्रधानमंत्री, लोकसभा अध्यक्ष, उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश, लोकसभा में विपक्ष के नेता और एक कानून के जानकार काे रखने का प्रावधान है।

लोकसभा में इस वक्त किसी को भी विपक्ष के नेता का दर्जा हासिल नहीं है। कांग्रेस लोकसभा में सबसे बड़ी पार्टी है और खड़गे सदन में उसके नेता हैं।

PM के खिलाफ जांच कर सकेगा लोकपाल

उन्हें देश के टॉप ऑफिशियल्स समेत प्रधानमंत्री और केंद्रीय मंत्रिमंडल के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच करने का अधिकार होगा। 
बता दें कि लोकपाल और लोकायुक्त कानून 2013 में संसद के दोनों सदनों की सहमति से पास हुआ था।


कमेंट करें