नेशनल

युवा दंपत्ति ने संन्यासी बनने के लिए छोड़ी 3 साल की बेटी और 100 करोड़ की संपत्ति

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
683
| सितंबर 17 , 2017 , 14:06 IST

मध्य प्रदेश के नीमच जिले में रहने वाले एक कपल ने एशो-आराम की जिंदगी छोड़कर संन्यासी बनने का फैसला किया है। इस कपल ने इसके लिए अपनी तीन 3 साल बच्ची और 100 करोड़ की प्रॉपर्टी को भी छोड़ने का फैसला कर लिया है। कपल के इस फैसले से आसपास के लोग आचंभित हो गए हैं।

35 साल के सुमित राठौड़ और उनकी पत्नी अनामिका 23 सितंबर को गुजरात के सूरत में दीक्षा लेंगे। दोनों को आचार्य रामलाल महराज दीक्षा दिलाएंगे।

3

सुमित का परिवार काफी रसूख वाला है और राजनीति और व्यापार में भी इनका नाम है। इसके बावजूद भी इन दोनों के इस फैसले ने सबको चौंका दिया है। लंदन से बिजनेस में डिप्लोमा कर चुके सुमित ने दो साल तक वहां नौकरी भी की थी लेकिन फिर फैमिली बिजनेस संभालने के लिए वह देश लौट आया था।

इधर, अनामिका के पिता का कहना है कि बेटी और दामाद के संन्यासी बन जाने के बाद उनकी 3 साल की बच्ची की जिम्मेदारी वे उठाएंगे। उन्होंने कहा, 'कोई भी अपना धार्मिक फैसला लेने के लिए स्वतंत्र है और उसे रोका नहीं जा सकता है। वहीं, सुमित के पिता राजेंद्र सिंह राठौड़ का कहना है कि हमें ऐसा प्रतीत हो रहा था कि वह संन्यासी बन जाएगा लेकिन इतना जल्दी होगा, ऐसा नहीं सोचा था।'

IMG-20170905-WA0019

बताया जा रहा है कि सुमित और अनामिका ने बहुत पहले ही संन्यासी बनने का फैसला कर लिया था, जब उनकी बेटी आठ महीने की थी। इसी वजह से दोनों ने एक-दूसरे के साथ रहना भी छोड़ दिया था

 


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें