खेल

डॉ.अंबेडकर पर टिप्पणी कर फंसे क्रिकेटर हार्दिक पंड्या, FIR दर्ज करने के आदेश

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2015
| मार्च 22 , 2018 , 10:23 IST

भारतीय क्रिकेट टीम के हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या के खिलाफ कथित तौर पर विवादित ट्वीट करने पर एफआईआर दर्ज की गई है।

बुधवार (21 मार्च, 2018) को यहां एससी/एसटी स्पेशल कोर्ट ने भीमराव आंडेबकर को लेकर ट्वीट करने पर पुलिस को पांड्या के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए हैं। दरअसल, पिछले दिनों हार्दिक पांड्या के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर कर एफआईआर दर्ज करने की मांग की गई थी, जिसको कोर्ट ने स्वीकार कर लिया।

पांड्या के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर करने वाले डी.आर मेघवाल का कहना है कि 26 दिसंबर, 2017 को अपने ट्विटर अकाउंट पर संविधान के निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर के खिलाफ टिप्पणी की थी। मेघवाल ने आरोप लगाया है कि पांड्या ने इस पोस्ट में न सिर्फ डॉ. भीमराव अंबेडकर को अपमानित किया गया, बल्कि दलित समुदाय के लोगों की भावनाओं को भी ठेस पहुंचाया है।

मेघवाल का कहना है कि पांड्या ने ट्वीट कर कहा था, 'कौन आंबेडकर? उन्होंने कहा कि पांड्या ने ट्वीट में लिखा था कि 'वह व्यक्ति जिसने देश के संविधान का ड्राफ्ट तैयार किया या फिर वो जिसने देश को आरक्षण के नाम पर एक बीमारी दी।'

हार्दिक पांड्या के इस ट्वीट के बाद मेघवाल, जिनका दावा है कि वो राजस्थान में राष्ट्रीय भीम सेना के सदस्य हैं, ने बीते मंगलवार को उनके खिलाफ याचिका दाखिल की। याचिका में मेघवाल ने कहा कि हार्दिक पांड्या जैसे मशहूर क्रिकेटर ना सिर्फ उनके समुदाय का अपमान करने की कोशिश की बल्कि संविधान का भी अपमान किया।

शिकायत में याचिकाकर्ता ने लिखा, ‘जनवरी में मैंने हार्दिक पांड्या के कमेंट के बारे में सुना। ये आंबेडकर जैसे व्यक्ति के लिए बहुत अपमानित था। यह नफरत फैलाने और समाज को विभाजित करने की कोशिश थी।’ वहीं याचिकाकर्ता के वकील ने कहा कि पांड्या ने गंभीर अपराध किया है। उन्होंने आंबेडकर के पूरे समुदाय को दुख पहुंचाया है। इसके लिए पांड्या को उनके अपराध के लिए प्रर्याप्त सजा होनी चाहिए।

पांडया फिलहाल सात अप्रेल से शुरू हो रही आईपीएल की तैयारी कर रहे हैं जिसनें उन्हें मुंबई इंडियंस की ओर से खेलना है।


कमेंट करें