नेशनल

CRPF और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने जीते बहादुरी के सबसे ज्यादा अवार्ड

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
2272
| अगस्त 15 , 2018 , 12:40 IST

स्वतंत्रता दिवस के पूर्व संध्या पर सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बहादुरी के लिए सबसे ज्यादा पदक हासिल किए हैं। जम्मू-कश्मीर पुलिस में आतंक विरोधी ऑपरेशन चलाने के लिए इन्हें ये पदक दिए गए हैं। जहां सीआरपीएफ जवानों को 5 शौर्य चक्र, दो राष्ट्रपति पुलिस बहादुरी पुरस्कार, 57 बहादुरी पुरस्कार मिले, वहीं जम्मू-कश्मीर पुलिस को 37 पुलिस बहादुरी पुरस्कार मिले जो किसी राज्य पुलिस के लिए सबसे ज्यादा है।

पिछले साल सेना, सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस ने जॉइंट ऑपरेशन में 213 आंतकियों को ढेर किया था। इस साल जुलाई 22 तक राज्य में 110 आतंकी मारे गए थे। मंगलवार को राज्य पुलिस और केंद्रीय पैरा मिलिटरी के 942 जवानों के लिए अवॉर्ड का ऐलान किया गया। इसमें 2 राष्ट्रपति पुरस्कार, 177 बहादुरी पुरस्कार, 88 अच्छी सेवा के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार और उत्कृष्ट कार्य के लिए 657 मेडल दिए गए।

DGP-22

करीब 70 प्रतिशत अवॉर्ड संयुक्त रूप से सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस के पास गए। सीआरपीएफ हेड कॉन्स्टेबल एएस कृष्णा, कॉन्स्टेबल के दिनेश राजा और कॉन्स्टेबल प्रफुल कुमार को 2015 में बांदीपोरा में हुए आतंकी हमले में साहस दिखाने के लिए शौर्य चक्र दिया गया। वहीं दो अन्य शौर्य चक्र 2017 में हुए ऐसे ही हमले में टक्कर देने के लिए डेप्युटी कमांडेट कुलदीप सिंह चहर और हेड कॉन्स्टेबल धनवाड़े रवींद्र बबन को दिया गया। रवींद्र बबन की हमले के दौरान मौत हो गई थी। जिन दो राष्ट्रपति पुरस्कारों का ऐलान किया गया, वे दोनों सीआरपीएप के जवान कॉन्स्टेबल शरीफ-उद्-दीन और हेड कॉन्स्टेबल तैफल अहमद को दिया गया। दोनों आतंकियों को मौत के घाट उतारने के बाद शहीद हो गए थे।

Crpf_1481358430

जम्मू-कश्मीर पुलिस अवॉर्ड की सूची में सबसे ऊपर है। जम्मू-कश्मीर पुलिस को 37 गैलंटरी अवॉर्ड मिले, ओडिशा पुलिस को 11, महाराष्ट पुलिस को 8, छत्तीसगढ़ पुलिस को 6, दिल्ली और मेघालय पुलिस को 5-5 और इंटेलिजेंस ब्यूरों के जवानों को 34, बीएसएफ को 51, सीआईएसएफ को 26, सीबीआई को 30, एनआईए को 3, एनडीआरएफ को 6, और एसपीजी और एनएसजी को 4-4 अवॉर्ड मिले।


कमेंट करें