नेशनल

नीतीश के उद्घाटन करने से ठीक पहले टूट गया 389 करोड़ का बांध, RJD ने कहा- नया घोटाला

अमितेष युवराज सिंह | न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
715
| सितंबर 20 , 2017 , 14:25 IST

बिहार के भागलपुर में उद्धाटन से पहले ही एक बांध टूट गया। इस बांध का आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उद्घाटन करने वाले थे लेकिन इससे पहले ही वह टूट गया। इसके बाद नीतीश कुमार ने अपना भागलपुर दौरा रद्द कर दिया है। बताया जा रहा है कि इस बांध को बनाने में 389 करोड़ रुपये की लागत आई है लेकिन इसका उद्घाटन भी नहीं हो पाया और यह टूट गया 

बांध के टूटने के साथ ही बहुप्रतीक्षित बटेश्वर गंगा पंप नहर परियोजना के ऊपर एक बार फिर ग्रहण लग गया । कहलगांव में बटेश्वर गंगा पंप नहर परियोजना का काम लंबे समय से चल रहा था। आपको बता दें कि 40 साल बाद पूरा हुए इस नहर परियोजना का बांध कहलगांव के एनटीपीसी मुरकटिया के पास टूट गया।

बांध का हिस्सा टूट जाने से आसपास के इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति है। उद्घाटन से पहले परियोजना के तहत बने नहरों में पानी छोड़ा गया, लेकिन एनटीपीसी आवासीय परिसर से होकर गुजरने वाली नहर का बांध टूट गया, जिससे एनटीपीसी आवासीय परिसर के विभिन्न कॉलोनियों में नहर का पानी फैल गया। इसके बाद एनटीपीसी आवासीय परिसर में रहने वाले लोगों के बीच अफरातफरी मच गई। घटना की सूचना मिलते ही प्रशासन के साथ-साथ सिंचाई विभाग के प्रधान सचिव, जिलाधिकारी और अधीक्षण अभियंता घटना स्थल पर पहुंच गए हैं।

Dam_1505886577

इस परियोजना के उद्घाटन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के अलावा जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कहलगांव के विधायक सदानंद सिंह भाग लेने वाले थे।

बांध टूटने पर ​प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी आरजेडी ने नीतीश सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए भागलपुर में मुख्यमंत्री और जल संसाधन मंत्री का पुतला फूंका। आरजेडी ने कहा है कि करोड़ों रुपये के सृजन घोटाले के बाद भागलपुर में एक नया 'घोटाला' सामने आया है।

पानी के बहाव को रोकने के लिए बालू भरे बोरे रखे जा रहे हैं। कहलगांव इस परियोजना स्थल से तीन किलोमीटर की दूरी पर है। बिहार और झारखंड की इस साझा परियोजना के जरिये भागलपुर में 18620 हेक्टेयर तथा झारखंड के गोड्डा जिले की 4038 हेक्टयर भूमि सिंचित होगी।


कमेंट करें