मनोरंजन

पुण्यतिथि विशेष: फिजाओं में आज भी गूंजता है पंचम दा का संगीत...

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
708
| जनवरी 4 , 2018 , 17:06 IST

बॉलीवुड में अपनी मधुर संगीत लहरियों से श्रोताओ को मंत्रमुग्ध करने वाले महान संगीतकार आरडी बर्मन आज हमारे बीच नहीं है लेकिन फिजां के कण-कण में उनकी आवाज गूंजती महसूस होती है जिसे सुनकर श्रोताओं के दिल से बस एक ही आवाज निकलती है- ‘चुरा लिया है तुमने जो दिल को’। आरडी बर्मन का जन्म 27 जून, 1939 को कोलकाता में हुआ था और 4 जनवरी, 1994 को 54 वर्ष की उम्र में उनका निधन हो गया था।

पहला गाना महज 9 साल की उम्र में कपोज किया था:

आर डी वर्मन ने अपना पहला गीत महज 9 साल की उम्र में फंटूश के लिए 'ऐ मेरी टोपी पलट के आ' के लिए कंपोज किया था। छोटी उम्र में ही पंचम दा ने 'सिर जो तेरा चकराए' गाने की धुन तैयार की थी। इसके बाद इस धुन को गुरदत्त की फिल्म 'प्यासा' में लिया गया। यह गाना आज भी लोगों की जुबान पर रहता है।

1

आर डी वर्मन का नाम पंचम दा कैसे पड़ा:

आर डी वर्मन का पूरा नाम राहुल देव बर्मन था। यह अपने समय के मशहूर संगीतकार सचिन देव बर्मन के बेटे थे। अार डी वर्मन का नाम पंचम दा का नाम कैसे पड़ा इसके पीछे एक रोचक कहानी है। जब आर डी वर्मन छोटे से थे तो एक बार लीजेंड अभिनेता अशोक कुमार ने आर डी वर्मन को रोते हुए सुना। उनका रोना सुनकर अशोक कुमार बोले,'यह पंचम में रोता है।' मतलब जब यह रोता है तो संगीत के पांच सुर निकलते हैं। तभी से आर डी वर्मन का नाम पंचम दा रख दिया गया।

Mediai505rd-burman-759

आर डी वर्मन के करियर की शुरुआत:

आर डी वर्मन ने बॉलीवुड फिल्मों के संगीत को एक नई परिभाषा दी। आर डी वर्मन के करियर की शुरुआत 1966 में आई फिल्म ‘तीसरी मंज़िल’ से हुई थी। इस फिल्म के सभी गानो को निर्देशन आर डी वर्मन ने किया था। इस फिल्म के बाद आर डी वर्मन के संगीत को नई पहचान मिली। इस फिल्म के सभी गाने मजरूह सुल्तानपुरी ने लिखे और मोहम्मद रफी ने गाया था।

Mediajt79rdburman (1)

आर डी वर्मन की निजी जिंदगी:

आर डी वर्मन की निजी जिंदगी काफी उतार-चढ़ावों से भरी थी। आर डी वर्मन की पहली शादी रीता पटेल से 1966 में हुई थी। रीता पटेल पंचम दा की फैन थी। लेकिन आर डी वर्मा की यह शादी ज्यादा दिनों तक चल नहीं पाई। 1971 में दोनों का तलाक़ हो गया। तलाक के बाद आर डी वर्मन बहुत गहरे सदमे में थे। इसी गम में पंचम दा ने फिल्म ‘परिचय’ के ‘मुसाफिर हूँ यारों’ गाने को एक होटल में बैठ कर तैयार किया। तलाक के 9 सालों के बाद एक बार फिर आर डी वर्मन की जिंदगी में खुशियां वापस लौट आई। सन 1980 में पंचम दा ने अपनी अच्छी दोस्त गायिका आशा भोंसले से शादी कर ली।

2


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें