नेशनल

मध्यप्रदेश: रक्षा मंत्री ने किया ऐलान, चंबल में खुलेगा सैनिक स्कूल

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1062
| फरवरी 26 , 2018 , 22:36 IST

केंद्रीय रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने यहां सोमवार को कहा कि देश के हर हिस्से के सुरक्षा बलों में चंबल क्षेत्र के निवासी बड़ी संख्या में हैं। यह वीर सपूतों की भूमि है। मध्यप्रदेश के मुरैना जिले में शहीदों की स्मृति को चिरस्थायी बनाए रखने के लिए एक करोड़ 60 लाख रुपये की लागत से बनाए गए शहीद स्मारक का लोकार्पण करते हुए रक्षामंत्री ने कहा, "चंबल वीर सपूतों की भूमि है और मैं यहां आकर अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रही हूं। मैं सेना के कार्यक्रमों में जहां भी पहुंचती हूं, मुझे वहां चंबल क्षेत्र के जवान जरूर मिलते हैं।"

उन्होंने बताया कि वर्तमान में सेना सहित अर्धसैनिक बलों में चंबल क्षेत्र के 15 हजार से अधिक जवान सेवारत हैं। उन्होंने इस अवसर पर शिक्षा सत्र 2018-19 से मुरैना में सैनिक स्कूल खोले जाने की घोषणा की। उन्होने चंबल क्षेत्र में सैना की भर्ती पुन: शुरू करने की भी सहमति दी एवं राज्य सरकार से इस में आवश्यक सहयोग की अपेक्षा की।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि चंबल क्षेत्र के वीर शहीद सपूतों ने अपने प्राणों की कुर्बानी देकर सरहद पर देश के लिए बलिदान दिया है। इसके लिए चंबल क्षेत्र के वीर शहीद सपूतों को हमेशा याद किया जाएगा। इस स्मारक के बन जाने से वीरों की शहादत को चिरस्थायी बनाया गया है।

उन्होंने कहा कि मुरैना के विकास की सबसे बड़ी बाधा डकैती समस्या थी, जिसे समाप्त कर दिया गया है। उन्होंने सैनिकों के कल्याण के लिए मप्र सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों का उल्लेख करते हुए कहा कि सीमा पर शहीद होने वाले जवानों के परिजनों को एक करोड़ की राशि सम्मान निधि के रूप में दी जाएगी। उनके माता-पिता को आजीवन पांच हजार रुपये की पेंशन प्रतिमाह दी जा जाएगी। इसके अलावा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी।

De

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, "मुरैना में रामप्रसाद बिस्मिल संग्रहालय के बाद आज शहीद स्मारक का लोकार्पण हुआ है। यह स्थान मुरैना के वीर शहीदों की स्मृतियों को चिरस्थायी रखकर युवाओं को देशभक्ति की प्रेरणा देता रहेगा।"

इस अवसर पर प्रदेश की नगरीय प्रशासन एवं आवास मंत्री माया सिंह, स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिंह व भाजपा के संगठन मंत्री वी.डी. शर्मा सहित अन्य अतिथि मौजूद थे। शहीद स्मारक के लोकार्पण के बाद शहीदों को नमन करते हुए अतिथियों ने पुष्पचक्र अर्पित किए और सलामी दी।

 


कमेंट करें