नेशनल

सुनंदा मौत मामले में स्वामी को लगा झटका, कोर्ट ने SIT जांच की मांग ठुकराई

icon सतीश कुमार वर्मा | 0
457
| अक्टूबर 26 , 2017 , 14:42 IST

कांग्रेस नेता शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर मौत मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की याचिका को खारिज कर दिया है। सुब्रमण्यम स्वामी ने इसी साल जुलाई में दिल्ली हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल कर कोर्ट से सुनंदा पुष्कर की संदेहास्पद स्थिति में मौत के मामले की दोबारा एसआईटी जांच कराने की अपील की थी। उन्होंने याचिका में अपील की थी कोर्ट खुद मामले की निगरानी करे। दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि ये जनहित याचिका नहीं राजनीति हित की याचिका का उदाहरण है।

कोर्ट ने कहा कि उसे ऐसा लगता है कि यह 'राजनीति से प्रेरित मुकदमा' है जिसे जनहित याचिका का रूप दिया गया। साथ ही कोर्ट ने अब तक हुई जांच की स्थिति के बारे में जानकारी मांगी। कोर्ट ने सुनवाई के दौरान जांच में हो रही देरी पर भी चिंता जाहिर की।

गुरुवार को मामले की सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने याचिकाकर्ता सुब्रमण्यम स्वामी से पूछा कि आपके सूत्र क्या हैं, जहां से आपके पास इतनी जानकारी आई है और जांच पर आप सवाल खड़ा कर रहे हैं? दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि अगर आपको सबूतों की जानकारी थी तो आपने पहले सबूतों को पेश क्यों नहीं किया? आपने अपनी याचिका ऑनलाइन डाल दी है। जानते हैं किसी की निजता पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा? क्या आपको पता नहीं है कि जिसने याचिका दाखिल की है वह किसी राजनीतिक पार्टी से है और जिसके खिलाफ आरोप है वह दूसरी राजनीतिक पार्टी से है, जो विपक्ष में है।

वहीं दूसरी ओर, केंद्र और दिल्ली पुलिस ने हाई कोर्ट से कहा वे शशि थरूर द्वारा केस को प्रभावित करने की कोशिश के स्वामी के दावे से सहमत नहीं हैं।

बता दें कि सुनंदा की मौत के मामले में अदालत की निगरानी में एसआईटी जांच की मांग को लेकर बीजेपी की ओर से राज्य सभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने याचिका दायर की थी।स्वामी ने अपनी याचिका में कहा था कि विभिन्न रिपोर्टों से संकेत मिलता है कि सुनंदा की मौत स्वाभाविक नहीं थी।

गौरतलब है कि कांग्रेस नेता शशी थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की लाश 17 जनवरी, 2014 की रात दिल्ली के लीला होटल में संदिग्ध हालत में मिली थी।


author
सतीश कुमार वर्मा

लेखक न्यूज वर्ल्ड इंडिया में वेब जर्नलिस्ट हैं

कमेंट करें