नेशनल

आश्रम में गंदी बात करता था वीरेन्द्र देव दीक्षित, खुलासा होने पर हुआ फरार

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
433
| दिसंबर 21 , 2017 , 18:53 IST

राम रहीम के डेरा सच्चा सौदा के तर्ज पर दिल्ली का डेरा सच्चा सौदा आश्रम इसे कहें तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। दिल्ली के रोहणी इलाके में आध्यात्मिक विश्वविद्यालय के नाम से बने इस आश्रम की कई खौफनाक बातें सामने आई हैं, जिसके बाद हाईकोर्ट ने सीबीआई को जांच करने को कहा है। इस आश्रम का बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित है, जो फिलहाल फरार है।

बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित का दिल्ली में 'आध्यात्मिक ईश्वरीय' नाम से एक यूनि‍वर्स‍िटी है। इसकी कई ब्रांचेज भी हैं। यूपी के बांदा में उसका एक आश्रम है। बाबा पर 150 लड़कियों को बंधक बनाए जाने की शि‍कायत मिली थी।
हाईकोर्ट ने कहा है कि सीबीआई जांच करेगी साथ ही इस मामले में एसआईटी का गठन करेगी। विजय विहार के एसएचओ ने कहा कि सारे डॉक्युमेंट सीबीआई को मुहैया कराए जाएंगे।

जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड भी आध्यात्मिक विश्विद्यालय में जाएगा और चेक करेंगा, कोर्ट ने दिल्‍ली सरकार के प्रिंसिपल सेक्रेटरी को निर्देश दिया है कि आध्यात्मिक विश्विद्यालय में मौजूद लड़कियों का इलाज डॉक्टरों से कराए।

150 महिलाओं और लड़कियों का मेडिकल एग्जामिनेशन होना चाहिए, अगर अब आध्यात्मिक विश्‍वविद्यालय सहयोग नहीं करता तो हम सबको नारी निकेतन भेज देंगे और बाल कल्याण समिति जांच करेगी। करीब 5 घंटे तक आश्रम में चला सर्च ऑपरेशन, डीवीआर, सीसीटीवी कैमरे की फुटेज बरामद हुई हैं। पूरे बिल्डिंग को पिंजरा बना रखा है। 

आगे हम हाई कोर्ट में हम रिपोर्ट फ़ाइल करेंगे, एक भी महिला अंदर पहुंच जाती तो बाहर वो बचकर नहीं निकल सकती। स्वाति ने बोला DCP और मुझे बंधक आश्रम में बनाया गया था। हालात काफ़ी ख़राब थे।
विजय विहार के अध्यात्मिक विश्वविद्यालय में रात को पहुंचे रोहिणी डीसीपी रजनीश गुप्ता को भी अंदर बंद कर दिया गया। उनके साथ में कई पुलिस अधिकारी भी मौजूद थे, साथ ही डीसीडब्‍ल्‍यू की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल भी थी।

इसी दौरान स्वाति मालीवाल के आश्रम के अंदर मौजूद महिलाओं ने स्वाति के बाल खीचे और रजनीश गुप्ता को आश्रम में बंद कर दिया, पुलिस ने गेट को गैस कटर से काट कर डीसीपी को बाहर निकाला। कोर्ट ने दिल्ली सरकार को कहा कि अध्यातिमक विश्विद्यालय के खिलाफ जितने भी एफआईआर दर्ज किए हैं और दिल्ली से बाहर जो भी है, आप सब अपने कब्जे में ले लो।

ASP भरत कुमार लाल ने बताया, बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। जल्द कार्रवाई की जाएगी। बाबा की तलाश की जा रही है, फिलहाल वो फरार है।


कमेंट करें