राजनीति

राहुल-सोनिया से मिलीं ममता, कहा- मैं PM पद की होड़ में नहीं, सिर्फ बीजेपी को हराना मकसद

icon सतीश कुमार वर्मा | 0
2449
| अगस्त 1 , 2018 , 21:18 IST

असम में तैयार किए गए राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) के अंतिम मसौदे को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बेहद नाराज हैं। ममता बनर्जी तीन दिन के दौरे पर दिल्ली आईं हैं। अपनी दिल्ली यात्रा के दूसरे दिन ममता बनर्जी सभी पार्टियों को एकजुट करने के लिए विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं से मुलाकात कर रही हैं। ममता बनर्जी बुधवार को कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने उनके आवास पर पहुंचीं।

सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद ममता ने कहा कि, हमने वर्तमान राजनीति और भविष्य में एक साथ चुनाव लड़ने की संभावनाओं पर चर्चा की। इसके अलावा हमने असम एनआरसी मुद्दे पर भी चर्चा की। बीजेपी राजनीतिक रूप से तनाव में है क्योंकि वह जानती है कि वह 2019 में सत्ता में नहीं आएगी।

पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए ममता ने कहा कि ‘मैं किसी पद की होड़ में नहीं हूं. मेरी दिलचस्पी इस बात को देखने में है कि सभी पार्टियां मिलकर काम करें। सभी राजनैतिक दल एकसाथ बैठेंगे और फैसला करेंगे।

बता दें कि ममता बनर्जी ने बुधवार को सबसे पहले वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी से मुलाकात की। दोनों के बीच करीब 15 मिनट तक बातचीत हुई। इस दौरान क्या बात हुई यह स्पष्ट नहीं हो पाया हालांकि बताया जा रहा है कि दोनों के बीच राजनीतिक हालात पर चर्चा हुई। ममता ने इसे शिष्टाचार भेंट बताया है।

इसके बाद वे संसद में एसपी सांसद जया बच्चन, शिवसेना सांसद संजय राउत और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा से भी मिली।

बता दें कि ममता बनर्जी केंद्र सरकार और बीजेपी के खिलाफ जनवरी 2019 में एक बड़ी रैली करने जा रहीं हैं। यह रैली ममता के 'बीजेपी भगाओ, देश बचाओ' अभियान की एक हिस्सा है। जिसके तहत ममता सभी गैर बीजेपी दलों को एक मंच पर इकट्ठा करना चाह रही हैं। उनकी यह मुलाकातें उस कवायद का एक हिस्सा मानी जा रही है।

बुधवार को ममता बनर्जी यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी से उनके आवास 10 जनपथ पर मुलाकात कर उन्हें इस रैली में शामिल होने का न्यौता दिया। वहीं ममता बनर्जी की मुलाकात कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से भी हुई।

आपको बता दें कि कांग्रेस पहले ही यह संकेत दे चुकी है कि वह गैर आरएसएस समर्थित किसी भी दल के किसी नेता को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाये जाने के खिलाफ नहीं है।


author
सतीश कुमार वर्मा

लेखक न्यूज वर्ल्ड इंडिया में वेब जर्नलिस्ट हैं

कमेंट करें