नेशनल

दुनिया के टॉप 15 सबसे प्रदूषित शहरों में भारत के 14, कानपुर सबसे प्रदूषित

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
2893
| मई 2 , 2018 , 14:27 IST

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) ने दुनिया के 20 सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों का नाम घोषित किया है, जिसमे सबसे बड़ी और चौका देने वाली बात यह है कि इन 20 शहरों में भारत के 14 शहर शामिल हैं और इनमें भी दिल्ली और वाराणसी का नाम ऊपर है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की ओर से जारी रिपोर्ट के मुताबिक विश्व के 15 प्रदूषित शहरों में अकेले भारत के 14 शामिल हैं। इस लिस्ट में टॉप पर कानपुर शहर है और भारत की राजधानी दिल्ली छठे नंबर पर है। रिपोर्ट के मुताबिक मिस्त्र का ग्रेटर कायरो दुनिया का दूसरा सबसे प्रदूषित शहर है, जबकि बांग्लादेश की राजधानी ढाका तीसरे और चीन की राजधानी बीजिंग पांचवे नंबर पर है।

प्रदूषित धुएं से हुईं लाखो मौतें-:

डब्लूएचओ ने वायु गुणवता आंकड़ों पर आधारित अपनी रिपोर्ट में बताया है कि दुनिया भर के 90 फीसदी लोग प्रदूषित हवा में सांस ले रहे हैं। इसकी वजह से 2016 में 70 लाख (7 मिलियन) लोगों की मौत हुई थी। इसमें ये भी बताया गया है कि 2016 में दुनिया भर में उद्योगों से निकलने वाले धुएं, ट्रक और कार से निकलने वाले धुएं की वजह से जो वायु प्रदूषित होती है उससे करीब 4.2 मिलियन यानी 42 लाख लोगों की मौत हुई थी।

वहीं इन्डोर यानी घर के अंदर मौजूद प्रदूषण के कारण के कारण 3.8 मिलियन यानी 38 लाख लोगों की मौत हुई थी।

पुरानी लिस्ट से ताजा आंकड़े की तुलना करने पर पता चलता है कि दिल्ली में 2010 से 2014 के बीच हालात थोड़े-बहुत सुधरे थे, लेकिन 2015 के बाद से और भी बिगड़ते जा रहे हैं। ये आंकड़े चिंताजनक इसलिए भी हैं कि इसमें ज्यादातर उत्तर भारत के शहर हैं, जिसमें पटना, लखनऊ सहित खासकर यूपी और बिहार के हैं। दिल्ली के अलावा एनसीआर इलाके में आने वाले फरीदाबाद की हालत भी प्रदूषण के मामले में बेहद खराब है।

WHO की ताजा आंकड़े के मुताबिक दिल्ली में पीएम 2.5 ऐनुल ऐवरेज 143 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर है जो नेशनल सेफ स्टैंडर्ड से तीन गुना ज्यादा है। जबकि पीएम 10 ऐवरेज 292 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर है जो नेशनल स्टैंडर्ड से 4.5 गुना ज्यादा है। यहां भी ध्यान देने की जरूरत है कि सेंट्रल पलूशन कंट्रोल बोर्ड (सीपीसीबी) का दावा है कि 2016 के मुकाबले 2017 में दिल्ली की हवा में प्रदूषण के स्तर कम हुआ है।

चीन-पाकिस्तान से पीछे भारत-:

WHO की 2010 प्रदूषित शहरों की लिस्ट में दिल्ली टॉप पर तो दूसरे और तीसरे नंबर पर क्रमश: पाकिस्तान का पेशावर और रावलपिंडी था। उस लिस्ट में आगरा भी शामिल था। 2011 की लिस्ट में भी दिल्ली और आगरा थे। 2012 में स्थिति बदलनी शुरू हुई और दुनिया के 20 सबसे प्रदूषित शहरों में अकेले भारत के 14 शहर शामिल थे। 2013, 2014 और 2015 में भी दुनिया के 20 सबसे प्रदूषित शहरों में भारत के चार से सात शहर शामिल थे।

इसे भी पढ़ें-: ताजमहल के बदलते रंग पर सुप्रीम कोर्ट की केन्द्र को फटकार, कहा- आपको परवाह है कि नहीं?

2016 की लिस्ट में दुनिया के 15 सबसे प्रदूषित शहरों में 14 भारत के हैं। 2013 में दुनिया के 20 सबसे प्रदूषित शहर में अकेले चीन के पेइचिंग समेत 14 शहर शामिल थे लेकिन वहां प्रदूषण की समस्या पर काबू पाया गया। इसका नतीजा यह सामने आया है कि 2016 में चीन के सिर्फ चार इस लिस्ट में शामिल हैं। जबकि इस लिस्ट में पाकिस्तान और चीन के एक भी शहर नहीं हैं।

प्रदूषित शहर-:

1. कानपुर
2. फरीदाबाद
3. वाराणसी
4. गया
5. पटना
6. दिल्ली
7. लखनऊ
8. आगरा
9. मुजफ्फरपुर
10. श्रीनगर
11. गुरुग्राम
12. जयपुर
13. पटियाला
14. जोधपुर
15. अली सुबह अल सलीम (कुवैत)


कमेंट करें