नेशनल

सिरसा के डेरे में दफन है 600 से ज्यादा कंकाल, SIT जांच में ख़ुलासा

icon कुलदीप सिंह | 0
1050
| सितंबर 20 , 2017 , 13:09 IST

डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रमुख गुरमीत सिंह के मामले में नया खुलासा हुआ है। एसआईटी की जांच में डेरा प्रबंधन कमिटी के डॉ. पी आर नैन ने खुलासा किया है कि  डेरे की जमीन के अंदर 600 से ज्यादा कंकाल हैं। उन्होंने बताया कि अनुयायियों का ऐसा विश्वास है कि मौत के बाद यदि उनकी अस्थियां डेरे की जमीन में दबा दी जाएंगी, तो उन्हें मोक्ष मिलेगा। इसी कारण डेरे की जमीन में करीब 600 लोगों की अस्थियां और कंकाल हैं।

आपको बता दें कि डेरे के कुछ पूर्व अनुयायियों ने ये आरोप लगाया था कि डेरे के खिलाफ बोलने वाले कई लोगों को मारकर डेरे के खेतों में उनके शव दबा दिए जाते थे। पुलिस जांच में जुटी हुई है और इस एंगल पर भी जांच कर रही है कि कही लोगो को मारकर उनकी लाशे खेतों में दबा तो नहीं दी गयी है।

सूत्रों के अनुसार, जल्द ही वहां खुदाई की जा सकती है डेरे के कुछ पूर्व अनुयायियों ने कहा कि राज फाश होने के डर से डेरे में इन जगहों पर खुदाई करने या पेड़ काटने तक की मनाही थी। पीआर नैन मंगलवार शाम 5.40 बजे शहर थाने में आया था।

DERA_SACHA_SAUDA_3195574f

एसआईटी इंचार्ज डीएसपी कुलदीप बेनीवाल ने उससे रात आठ बजे तक करीब ढाई घंटे में 50 सवाल किये। एसआईटी ने एक दिन पहले सोमवार को डेरा सच्चा सौदा की चेयरपर्सन विपसना इंसा से करीब सवा तीन घंटे तक पूछताछ की थी।

आपको बता दें कि अनुयायियों की इच्छा के चलते डेरा प्रबंधन ने जर्मनी के एक वैज्ञानिक से इस बारे में सलाह ली तो उसने बताया कि हड्डियों में फास्फोरस की मात्रा अधिक होती है, जो जमीन की उपजाऊ शक्ति को कई गुणा बढ़ा देगी। जर्मन वैज्ञानिक के कहने पर डेरा प्रबंधन ने अनुयायियों की अस्थियों को डेरे की जमीन में दबाना शुरू किया।


author
कुलदीप सिंह

Executive Editor - News World India. Follow me on twitter - @KuldeepSingBais

कमेंट करें