लाइफस्टाइल

दिवाली 2017: इन शुभ मुहूर्त में करें पूजा, बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1541
| अक्टूबर 19 , 2017 , 10:30 IST

आज 19 अक्टूबर 2017 को देशभर में दिवाली पर्व मनाया जा रहा है। आज के दिन विशेष तौर पर लक्ष्मी, श्री गणेश और कुबेर की पूजा की जाती है। दिवाली पर्व कार्तिक कृष्ण अमावस्या को मनाया जाता है। अमावस्या तिथि 18 अक्तूबर 2017 को रात्रि 12.10 बजे लगकर 19 अक्तूबर 2017 को रात 12.32 बजे तक रहेगी। दिवाली में तीन शुभ मुहूर्त में लक्ष्मी पूजन करेंगे तो विशेष फलदायी होगा। लक्ष्मी पूजन के लिए गुरुवार शाम 7 बजकर 14 मिनट से रात 9 बजकर 11 मिनट का समय है। पूजन की अवधि कुल 2 घंटे 3 मिनट की रहेगी।

Diwali-puja-vidhi-narak-chaturdashi-puja

दिवाली पूजन में अमावस्या तिथि, प्रदोष निशीथ और महानिशीथ काल का विशेष महत्व होता है। जो लोग प्रदोष काल में पूजन नहीं कर सकते, वह निशीथ एवं महानिशीथ काल में पूजा कर सकते हैं।

प्रदोष काल शाम 5.38 बजे से 8.14 बजे तक, शाम 7.05 बजे से रात 9 बजे तक, शाम 5.40 बजे से 7.18 बजे तक रहेगा और इसमें पूजन शुभ माना जा रहा है।

Diwali-pooja-muhurat-620x400 (1)

घरों पर दिवाली के पूजन का मुहूर्त बृहस्पतिवार को सायं 7.09 बजे से 9 बजे के बीच भी है है। जिन घरों में सवेरे हनुमान जी का रोठ चढ़ता है, वे साढ़े आठ बजे से 11 बजे तक कर सकते हैं।

व्यावसायिक स्थलों पर पूजन मूहूर्त

प्रात: 8.37 से 10.55 स्थिर लग्न ( वृश्चिक)
पूर्वाह्न-10.55 से 12.48 धनु लग्न
अपराह्न 2.47 से 4.14 सायं स्थिर लग्न ( कुंभ)
( दोपहर 1.30 से 2.45 के मध्य राहुकाल रहेगा. इस दौरान दिवाली पूजन न करें)

63c4d3f7afe90be371dbd956bd4b54fe_1445330608_33

घर पर दिवाली पूजन

7.10 से 9 बजे तक
2/4 घर पर दिवाली पूजन 7.10 से 9 बजे तक
शाम 7.09 से 9 बजे स्थिर लग्न ( वृष)-श्रेष्ठ समय

प्रदोषकाल में सायं 5.48 से 7.25 तक शुभ चौघड़िया मुहूर्त है। इसके बाद ही घर में दीप जलाएं।


कमेंट करें