नेशनल

मैक्स अस्पताल के 9 डॉक्टरों और 2 नर्सों को DMC का नोटिस, 5 जनवरी तक मांगा जवाब

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
1289
| दिसंबर 24 , 2017 , 14:47 IST

दिल्ली मेडिकल काउंसिल ने दो जुडवां बच्चों मे से एक जीवित बच्चे को भी मृत घोषित करने के सिलसिले में कथित चिकित्सा लापरवाही के मामले में शालीमार बाग स्थित मैक्स अस्पताल के 9 डॉक्टरों और 2 नर्सों को एक नोटिस भेजा है। काउंसिल ने डॉक्टरों व नर्सिग कर्मचारियों को जवाब दाखिल करने के लिए 15 दिन में समय दिया है। इस बीच काउंसिल को जवाब नहीं मिलता तो आरोपी डॉक्टरों के खिलाफ दोष साबित कर दिया जाएगा। जिन डॉक्टरों को नोटिस जारी किया गया है, उनमें से दो डॉक्टरों को मैक्स पहले ही बर्खास्त कर चुका है।

परिषद के सचिव गिरीश त्यागी ने बताया कि यह नोटिस 20 दिसंबर को जारी किया गया था।

काउंसिल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक के जरिए 9 डॉक्टरों और 2 नर्सों को नोटिस भेजा गया है। उन्होंने बताया, इससे पहले, मीडिया खबरों के आधार पर, हमने मैक्स अस्पताल से एक जवाब मांगा था और उन्होंने करीब एक सप्ताह पहले इसका जवाब दिया था। इस बार हमने डॉक्टरों और नर्सों से व्यक्तिगत स्तर पर जवाब मांगा है।

यह मामला शालीमार बाग स्थित मैक्स अस्पताल में 30 नवंबर को जुडवां बच्चों के जन्म के बाद दोनो को मृत घोषित करने से जुड़ा है। हालांकि उनमें से एक शिशु जीवित था। बच्चे के जीवित मिलने पर उसे दूसरे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां एक सप्ताह बाद उसकी मौत हो गई। डीएमसी ने नोटिस में कहा है, इस सिलसिले में शालीमार बाग स्थित मैक्स अस्पताल के डॉक्टरों की ओर से कथित चिकित्सा लापरवाही को लेकर दिल्ली मेडिकल काउंसिल ने मीडिया खबरों पर स्वत: संज्ञान लिया। चिकित्सा संस्था ने यह भी कहा कि वह कथित लापरवाही की जांच कर रही है।

प्राधिकरण में इस मामले पर अगली सुनवाई 9 जनवरी को होगी। उधर, अस्पताल फिर से चालू होने के कारण शिशु के परिजन चार दिन से बाहर धरने पर बैठे हैं।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें