इंटरनेशनल

सबक: बाढ़ पीड़ितों का मजाक उड़ाना पड़ा महंगा, कंपनी ने युवक को नौकरी से निकाला

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1986
| अगस्त 20 , 2018 , 14:39 IST

केरल में बाढ़ प्रभावित पीड़ितों की दुर्दशा पर सोशल मीडिया पर असंवेदनशील टिप्पणी पोस्ट करने वाले एक कर्मचारी को गल्फ फ्रेम से निकाल दिया गया। एक रिपोर्ट के मुताबिक, लुलू ग्रुप इंटरनेशनल कंपनी ने राहुल चेरु पलायट्टू नाम के व्यक्ति को नौकरी से निकाला है। वह ओमान में कंपनी की एक शाखा में कैशियर के रूप में काम कर रहा था। राहुल पर ये भी आरोप कि उन्होंने फेसबुक के जरिए केरल बाढ़ पीड़ितो की स्वच्छता से जुड़ी जरुरतों का मजाक उड़ाया। जिसके बाद कंपनी ने उसपर कार्रवाई की और एक्शन लेते हुए फर्म के ह्युमन रिसोर्स मैनेजर ने उन्हें टर्मिनेशन लेटर थमा दिया। जिसमे लिखा था कि तुम्हें तत्काल प्रभाव से नौकरी से निकाला जाता है।

हालांकि अपनी टिप्पणी पर आलोचना झेलने के बाद राहुल ने रविवार को फेसबुक पर एक वीडियो पोस्ट कर माफी मांगी। राहुल ने कहा 'मैंने जो किया उसके लिए मैं माफी मांगता हूं। जब मैंने उस संदेश को पोस्ट किया तो मैं शराब के नशे में था। उस समय मुझे नहीं पता था कि मैंने क्या किया। मैंने एक गंभीर गलती की है।'  कंपनी के चीफ कम्युनिकेशंस ऑफिसर (सीसीओ) वी नंदकुमार ने एक बयान जारी करते हुए कहा, 'हमने अपने कर्मचारी की सेवा को तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया और समाज को यह संदेश भी देने की कोशिश की कि इस तरह के मुद्दों पर हमारा रुख बिल्कुल स्पष्ट है।

हम एक संगठन के रूप में हमेशा मानवतावादी मूल्यों और उच्चतम नैतिक प्रथाओं के लिए खड़े हैं।' बता दें कि भारतीय अरबपति और लुलू ग्रुप के मालिक एमए युसूफ अली खुद केरल के रहने वाले हैं और इस आपदा में लोगों की मदद और राहत कार्यों के लिए अब तक 9.23 मिलियन दिरहम दान कर चुके हैं। वहीं, संयुक्त अरब अमीरात सरकार ने राज्य की मदद के लिए एक समिति का भी गठन किया है। 


कमेंट करें