नेशनल

जम्मू-कश्मीर: हंदवाड़ा में तीसरे दिन भी मुठभेड़ जारी, एक और जवान शहीद

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1659
| मार्च 3 , 2019 , 10:51 IST

जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच 72 घंटे से मुठभेड़ जारी है। इसके बाद सुरक्षाबलों की ओर से सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। बता दें कि सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में चार जवान शहीद हो गए थे और दो आतंकियों के मारे जाने की खबर थी। फिलहाल, आतंकियों की लाश नहीं मिली है। वहीं, रविवार को इस मुठभेड़ के दौरान घायल एक सीआरपीएफ जवान की मौत हो गई। अबतक 5 जवान इस मुठभेड़ में शहीद हो गए है। मुठभेड़ के दौरान शहीदों में तीन सीआरपीएफ जवान और दो जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवान शामिल हैं।

शुक्रवार देर रात सुरक्षाबलों को हंदवाड़ा इलाके के एक गांव में आतंकियों के छिपे होने की खबर थी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर लिया था। दोनों ओर से शनिवार सुबह तक फायरिंग चली। इसके बाद अचानक फायरिंग रूक गई। सुरक्षाबलों ने आतंकियों के छिपे होने वाले घर में सर्च ऑपरेशन शुरू किया, तभी आतंकी ने फायरिंग शुरू कर दी। सेना की 22 आरआर, 92 बटालियन सीआरपीएफ और एसओजी की टुकड़ियों ने सर्च ऑपरेशन चलाया था। अचानक हुए इस हमले में सीआरपीएफ के एक इंस्पेक्टर समेत दो सुरक्षाकर्मी और जम्मू-कश्मीर पुलिस के दो जवान शहीद हो गए।

हंदवाड़ा के बाबागुंड में चल रही इस मुठभेड़ की वजह से स्थानीय लोगों में भी दहशत का माहौल पैदा हो गया है। आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान सीआरपीएफ की 92वीं बटैलियन में तैनात उत्तर प्रदेश के मोदीनगर के विनोद कुमार शहीद हो गए थे। विनोद शुक्रवार को आतंकियों की गोली लगने के बाद घायल हो गए थे, जिसके बाद उन्हें उनके साथी हॉस्पिटल ले जाने लगे, तभी रास्ते में वह शहीद हो गए।

बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा जिले में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकियोंने हमला किया था। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इस घटना के बाद पूरे देश में आक्रोश की लहर दौड़ पड़ी। भारतीय वायुसेना ने पुलवामा अटैक का बदला लेने के लिए पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में दाखिल होकर एयर स्ट्राइक के जरिए जैश-ए-मोहम्मद के कई आतंकी ठिकानों को नेस्तनाबूद कर दिया था।


कमेंट करें