बिज़नेस

फेसबुक के मालिक मार्क ज़ुकरबर्ग को सबसे बड़ा झटका, 1 दिन में गंवा दिए 4 खरब रुपये

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2654
| मार्च 20 , 2018 , 15:24 IST

फेसबुक में डाटा लीक होने का मामला सामने आते ही फेसबुक को तगड़ा झटका लगा है। सोमवार को इस अमेरिकी सोशल मीडिया के शेयर करीब 7 फीसदी टूट गए और कंपनी के मार्केट वैल्यू में करीब 35 अरब डॉलर तक की गिरावट आ गई।

शेयर की कीमत घटने की वजह से फेसबुक सीईओ मार्क जुकरबर्क को एक दिन में 6.06 अरब डॉलर (करीब 395 अरब रुपये) का झटका लग गया।

राजनीतिक विज्ञापन कंपनी के करोड़ों फेसबुक यूजर्स के डेटा उनकी सहमति के बिना अपने पास रखने की खबर आने पर अमेरिकी और यूरोपीय सांसदों ने फेसबुक इंक से जवाब मांगा। अमेरिका और यूरोप के सांसदों ने जकरबर्ग को उनके सामने पेश होने के लिए कहा है।

Mark-Zuckerberg-Password-Change-New-Login-Secure-Zuckerberg-Password-Hack-Social-Network-Facebook-UK-677315

वे जानना चाहते हैं कि ब्रिटेन की कैंब्रिज एनालिटिका ने डॉनल्ड ट्रंप को अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव जीतने में किस तरह से मदद की?

फेसबुक पहले ही यह बता चुका है कि 2016 में अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से पहले उसके प्लेटफॉर्म का प्रचार-प्रसार करनेवाले रूसी लोगों ने कैसे इस्तेमाल किया था, लेकिन इसे लेकर जकरबर्ग कभी सवालों के घेरे में नहीं आए थे।

इस मामले से सोशल नेटवर्किंग साइट्स के सख्त रेग्युलेशन का दबाव भी बन सकता है। ब्रिटेन के एक सांसद ने सोमवार को कहा कि देश के प्राइवेसी वॉचडॉग को अधिक ताकत मिलनी चाहिए।

कन्जर्वेटिव लीडर और यूके डिजिटल, कल्चर, मीडिया और स्पोर्ट्स कमिटी के अध्यक्ष डेमियन कॉलिंस ने एलबीसी रेडियो को दिए इंटरव्यू में बताया, 'हमें ब्रिटेन में इन्फॉर्मेशन कमीशन को और शक्तियां देने पर विचार करना चाहिए। इसका समय आ गया है।'

फेसबुक के मुताबिक, प्रफेसर ने बाद में इन यूजर्स के डेटा कैंब्रिज एनालिटिका को दिए जो उसकी शर्तों का उल्लंघन था। इस खबर की वजह से फेसबुक के शेयर सोमवार को 7 प्रतिशत गिर गए।

फेसबुक को इस मामले में शर्तों के उल्लंघन की जानकारी 2015 में मिली थी, जिसके बाद उसने प्रफेसर का एक्सेस रोक दिया और उसने कैंब्रिज एनालिटिका से यूजर डेटा डिलीट किए जाने की बात कन्फर्म करने को कहा।

इसे भी पढ़ें-: Facebook में अब कर सकेंगे ऑडियो स्टेटस अपडेट! जानिए कैसे

पिछले शुक्रवार को कैंब्रिज को अपने सिस्टम से हटाते हुए फेसबुक ने सफाई दी कि उसे पता चला है कि यूजर्स डेटा डिलीट नहीं किए गए थे।

वहीं, कैंब्रिज ने शनिवार को कहा था कि अभी उसका यूजर्स डेटा का एक्सेस नहीं है। उसने कहा था कि वह इस मसले का समाधान निकालने के लिए फेसबुक के बात कर रही है।


कमेंट करें