नेशनल

दिल्ली में किसानों की हुंकार, कर्जमाफी सहित कई मुद्दों पर विरोध-प्रदर्शन

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1544
| नवंबर 29 , 2018 , 12:10 IST

आज देश भर के किसान दिल्ली में जुट रहे हैं। किसान अपनी मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे। किसानों का ये विरोध प्रदर्शन दो दिन तक चलेगा। 29 नवंबर को दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों से रामलीला मैदान तक और 30 नवंबर को रामलीला मैदान से संसद भवन तक मार्च निकाला जाएगा, धरना दिया जाएगा।

किसान सुबह 9:00 बजे हरियाणा से निकले और तकरीबन 25 किलोमीटर की पदयात्रा करते हुए रामलीला मैदान पहुंचेंगे। योगेंद्र यादव इस मार्च की अगुवाई कर रहे हैं। इसमें बीजेपी को छोड़कर अन्य कई राजनीतिक दलों के नेता भी शामिल होंगे।

योगेंद्र यादव ने कहा कि यह हमारे लिए अच्छा मौका है। हम सरकार को किसानों की समस्याएं सुनने के लिए संसद में विशेष सत्र बुलाने के लिए मजबूर करेंगे। उन्होंने बताया कि प्रदर्शनों में शामिल होने के लिए मेघालय, गुजरात, केरल और जम्मू-कश्मीर से किसान दिल्ली पहुंचने लगे हैं।

2 दिन चलेगा विरोध प्रदर्शन

अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर देशभर के दो सौ से ज्यादा किसान-मजदूर संगठन दो दिनों तक देश की राजधानी दिल्ली में जुट रहे हैं। किसान मुक्ति यात्रा नाम से किए जा रहे इस विशाल प्रदर्शन में किसान दिल्ली के जंतर-मंतर पर जुटेंगे और फिर वहां से संसद के लिए मार्च करेंगे।

207 किसान संगठन होंगे शामिल

देश के 207 छोटे-बड़े किसान संगठन शामिल होंगे। यह भारत के इतिहास में पहला मौका होगा, जब 200 से ज्यादा किसान संगठन एक बैनर के तले विरोध-प्रदर्शन करेंगे। धरना प्रदर्शनों में शामिल होने के लिए आंध्रप्रदेश, केरल और पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्रियों के अलावा सभी विपक्षी पार्टियों के बड़े नेताओं को बुलाया गया है।


कमेंट करें