इंटरनेशनल

पाकिस्तान को बड़ा झटका, चीन ने भी नहीं दिया साथ, 'ग्रे लिस्ट' में किया गया शामिल  

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
872
| फरवरी 23 , 2018 , 18:41 IST

पाकिस्तान को अपनी गलत हरकतों और नीतियों की वजह से बड़ा झटका लगा है। पेरिस में संयुक्त राष्ट्र की संस्था एफएटीएफ यानी फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स ने पाकिस्तान को 'ग्रे सूची' में डालने का फैसला किया है। ऐसा माना जा रहा है कि इसका औपचारिक एलान शुक्रवार के बाद कर दिया जाएगा। चीन और सऊदी अरब के पीछे हट जाने के बाद अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी और फ्रांस की ओर से लाए गए प्रस्ताव के पारित होने पर अब कोई संशय नहीं रह गया है।

नई दिल्ली और इस्लामाबाद के कई सूत्रों के मुताबिक एफएटीएफ की पेरिस में हुए प्लेनरी मीटिंग में जीसीसी और चीन के विरोध वापस लेने के बाद अमेरिका समर्थित प्रस्ताव पास हुआ। इस प्रस्ताव का शुरुआत में सऊदी अरब, चीन और तुर्की ने विरोध किया। लेकिन, अंत में सिर्फ तुर्की ने पाकिस्तान का समर्थन किया। अमेरिका के अलावा जिन देशों ने इसका समर्थन किया वो थे ब्रिटेन, जर्मनी और फ्रांस।

Shahid-khaqan-abbasi

एफएटीएफ ने जमात उद दावा (जेयूडी) और फलह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) की फाइनेंसिंग पर पाकिस्तान की तरफ से उठाए गए कदमों की समीक्षा की थी। ये दोनों ही समूह लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक हाफिज सईद से जुड़े हैं जिस पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने प्रतिबंध लगाया हुआ है।

पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट देशों में शामिल करने के बाद वहां पर व्यवसाय करना काफी कठिन हो जाएगा क्योंकि बैंक और अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संगठनों की तरफ से लेनदेन की काफी बारीकी से नजर रखी जाएगी। FATF एक अन्तर्राष्ट्रीय संस्था है जो गैरकानूनी फंड के खिलाफ मानक तय करती है। पाकिस्तान के साथ कारोबार करने वाले बैंक और अंतरराष्ट्रीय कंपनियां उसके साथ वित्तीय संबंध रखने पर पुनर्विचार कर सकती हैं। ऐसे में पहले से आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान की हालत और बिगड़ेगी।

आपको बता दें कि पाकिस्तान ने अपने आपको ग्रे लिस्ट से बचने के लिए काफी मशक्कत की थी और पश्चिमी देशों का समर्थन हासिल करने का प्रयास किया था। उसे रूस से भी ग्रे लिस्ट में शामिल होने से बचने के लिए समर्थन मांगी थी।


कमेंट करें