इंटरनेशनल

पाक विदेश मंत्री ख्वाजा का कबूलनामा, कहा-पाक की जमीन पर चल रहे हैं आतंकी संगठन

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
1104
| सितंबर 7 , 2017 , 15:11 IST

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने अपने मुल्क की जमीन पर जमे लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों पर प्रतिबंध लगाए जाने पर बल दिया है। आसिफ का बयान ब्रिक्स घोषणापत्र के दो दिन बाद आया है जिसमें पहली बार पाकिस्तान से ऑपरेट किए जा रहे आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधित संगठनों का नाम लिया गया था।

ख्वाजा आसिफ ने कहा कि अगर लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकवादी संगठनों पर लगाम नहीं लगाई गई, तो देश को शर्मिंदगी का सामना करते रहना होगा। आसिफ ने पाकिस्तान से ऑपरेट हो रहे लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद समेत अन्य प्रतिबंधित इंटरनेशनल आतंकवा​दी संगठनों के अस्तित्व को स्वीकार कर लिया है।

आसिफ ने 5 सितंबर को जियो न्यूज से बातचीत में कहा, 'हमें अपने मित्रों से कहने की आवश्यकता है कि हमने अपने बर्ताव को सुधार लिया है। हमें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शर्मिंदगी का सामना करने से बचने के लिये अपने तौर तरीके में सुधार करना होगा।'

-khwaza_asif

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ चीन में हुए ब्रिक्स सम्मेलन के दौरान जारी संयुक्त घोषणा पत्र में लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद का नाम शामिल किए जाने पर अपनी राय दे रहे थे। ब्रिक्स सम्मेलन में लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद का जिक्र भारत की कूटनीतिक उपलब्धि और पाकिस्तान और चीन के लिए शर्मिंदगी माना गया था। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए आसिफ ने कहा, 'हम ज़्यादा लंबे वक्त तक यह बर्दश्त नहीं कर सकते कि आतंकवाद के मुद्दे पर चीन जैसे हमारे मित्रों को हमारे कारण हर बार कसौटी पर खड़ा किया जाए।'

आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान के नजरिए में आए इस बदलाव को चीन पर दिए दबाव का असर माना जा रहा है।

बता दें कि, इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी हक्कानी नेटवर्क जैसे आतंकवादी समूहों को पनाह देने के लिये पाकिस्तान की जमकर आलोचना की थी।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें