नेशनल

भारतीय राजनीति के 'अजातशत्रु' अटल बिहारी वाजपेयी नहीं रहे

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
2350
| अगस्त 16 , 2018 , 17:47 IST

एम्स में भर्ती पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया है। लोग उनके स्वास्थ्य के लिए देशभर में पूजा-पाठ कर रहे थे। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय के छात्रों ने वाजपेयी के स्वस्थ होने के लिए सुबह से हवन पूजन किया था।

इसके अलावा भी देश भर में लोग वाजपेयी की तबीयत में सुधार को लेकर दुआएं कर रहे हैं। इसी तरह दिल्ली स्थित एम्स के बाहर भी भारतीय जनता पार्टी के समर्थक और कार्यकर्ताओं का तांता लगा हुआ है। समर्थक पूर्व पीएम के जल्द ठीक होने की दुआ कर रहे हैं। इसके अलावा सत्तापक्ष और विपक्ष के तमाम नेता ट्वीट कर वाजपेयी के दीर्घायु होने की कामना कर रहे हैं।

वहीं, वाजपेयी की नाजुक तबीयत को लेकर उनकी भांजी कांति मिश्रा भावुक हो गईं। उन्होंने कहा, ‘मैं ईश्वर से उनके फिर से भाषण देने के लिए प्रार्थना कर रही हूं। हमारा परिवार उस छवि को कभी मिटा नहीं सकता जो हमारे दिमाग में बन चुकी है। मुझे उम्मीद है कि वह जल्द ही ठीक हो जाएंगे।’

वही वाजपेयी जी का मनाली से गहरा नाता रहा है। वाजपेयी को यह जगह इतनी पसंद रही कि उन्होंने अपने लिए मनाली से सटे प्रीणी में घर बनाया। वह वर्ष 2006 तक वह हर वर्ष यहां गर्मियों के दिनों में आया करते थे। इस दौरान स्थानीय लोगों के साथ उनका सीधा-संवाद रहता था। अस्वस्थ रहने के बाद वह 2006 के बाद यहां नहीं आ पाए। आज जब एम्स में भर्ती वाजपेयी की नाजुक हालत को लेकर दिल्ली की हलचल तेज हैं तो प्रीणी के निवासी उनकी लंबी आयु के लिए मंदिर में प्रार्थना कर रहे हैं। जाहिर है कि वायपेयी की सेहत में बुधवार से अभी तक कोई सुधार नहीं हुआ है। उन्हें एम्स में लाइफ स्पोर्ट सिस्टम पर रखा गया है। प्रीणी में लोग अपने चहेते पीएम के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

वही देश भर में दुआओं के दौर तो जारी है कि साथ ही विभिन्न राज्यों के सीएम भी उनके लिए दुआ कर रहें हैं।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें