बिज़नेस

Fortis के भाइयों में हाथापाई, मलविंदर का आरोप- छोटे भाई शिविंदर ने हमला किया

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1470
| दिसंबर 7 , 2018 , 14:02 IST

फोर्टिस हेल्थकेयर के पूर्व प्रमोटर भाइयों मलविंदर मोहन सिंह (45) और शिविंदर मोहन सिंह (43) के बीच झगड़ा तेज हो गया है। बड़े भाई मलविंदर ने आरोप लगाया है कि शिविंदर ने बुधवार को उन पर हमला किया। उधर, शिविंदर ने उल्टा आरोप लगाते हुए कहा कि मलविंदर ने उनसे मारपीट की।

मलविंदर ने शेयर की जख्मों की तस्वीर

मलविंदर ने एक विडियो भी पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने कहा, 'आज 5 दिसंबर, 2018 को शाम छह बजे के बाद मेरे छोटे भाई शिविंदर मोहन सिंह ने 55 हनुमान रोड पर मेरे साथ दुर्व्यवहार किया और धमकी दी। उन्होंने मुझपर हाथ भी उठाया, मुझे चोट लगी, मेरी कमीज का एक बटन टूट गया, मुझे खरोंच आई। वह तबतक मुझसे उलझे रहे, जबतक लोगों ने उन्हें मुझसे अलग नहीं किया।

ट्वीट साभार- CNBC-TV18

बोर्ड मीटिंग के दौरान हंगामा

शिविंदर मोहन सिंह पर दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए मलविंदर ने बताया कि पूरा मामला उस वक्त शुरू हुआ, जब शिविंदर ने ग्रुप की एक कंपनी प्रायस रियल एस्टेट के बोर्ड की बैठक को बाधित करना शुरू किया। उन्होंने दावा किया कि इस कंपनी को उन्होंने लगभग 2 हजार करोड़ रुपये की उधारी दी है, जिसे गुरिंदर सिंह ढिल्लन और उनके परिवार के लोग चलाते हैं।

फोर्टिस 22 साल पुरानी कंपनी

शिविंदर और मलविंदर सिंह ने 1996 में फोर्टिस हेल्थकेयर की शुरुआत की थी। फिलहाल 10,000 बेड की क्षमता और 314 डायग्नोस्टिक सेंटर्स के साथ फोर्टिस 45 शहरों में अपनी सुविधाएं दे रहा है। दुबई, मॉरिशस और श्रीलंका में भी इसका नेटवर्क है।

इस साल फरवरी में फोर्टिस से अलग हुए थे दोनों भाई

साल 2016 में दोनों भाइयों ने फोर्ब्स की 100 सबसे अमीर भारतीयों की लिस्ट में 92वें नंबर पर जगह बनाई थी। उस वक्त दोनों की संपत्ति 8,864 करोड़ रुपए थी। इस साल की शुरुआत में शिविंदर और मलविंदर सिंह पर आरोप लगा कि उन्होंने कंपनी बोर्ड के अप्रूवल के बिना 500 करोड़ रुपए निकाल लिए। फरवरी 2018 तक मलविंदर फोर्टिस के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन और शिविंदर नॉन-एग्जीक्यूटिव वाइस चेयरमैन थे।


कमेंट करें