खेल

फ्रेंच ओपन: नडाल बने चैंपियन, थिएम को हराकर 11वीं बार जीता खिताब

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
760
| जून 11 , 2018 , 07:52 IST

विश्व के नंबर-1 स्पेन के राफेल नडाल ने आस्ट्रिया के डोमिनिक थिएम को हराकर साल के दूसरे ग्रैंड स्लैम, फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट का पुरुष एकल का खिताब जीत लिया है। नडाल का यह 11वां फ्रेंच ओपन खिताब है। टॉप सीड नडाल ने रविवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट के खिताबी मुकाबले में पहुंचे थीम को 6-4, 6-3, 6-2 से मात दी। स्पेनिश खिलाड़ी ने दो घंटे 42 मिनट में यह मुकाबला जीता।

गत चैंपियन नडाल का रोलां गैरो पर यह 11वां और करियर का 17वां ग्रैंडस्लैम खिताब है। स्पेन के इस खिलाड़ी ने किसी एक ग्रैंडस्लैम में सर्वाधिक खिताब के मारग्रेट कोर्ट के रेकॉर्ड की भी बराबरी कर ली। मारग्रेट ने 1960 से 1973 के बीच ऑस्ट्रेलिया ओपन में यह उपलब्धि हासिल की थी। क्ले कोर्ट पर यह नडाल और थिएम का 10वां मुकाबला था जिसमें स्पेन के खिलाड़ी ने सातवीं जीत दर्ज की।

.JPG

नडाल अब सर्वाधिक ग्रैंडस्लैम के मामले में अपने प्रतिद्वंद्वी रोजर फेडरर से तीन मेजर खिताब पीछे हैं जिनके नाम पर 20 ग्रैंडस्लैम खिताब दर्ज हैं। वह हालांकि फेडरर से चार साल छोटे हैं। स्पेन के 32 साल के नडाल अपने 24वें ग्रैंडस्लैम फाइनल में खेल रहे थे जबकि थिएम पहली बार किसी मेजर फाइनल का हिस्सा बने थे।

थिएम 1995 में रोलां गैरो में थॉमस मस्टर के खिताब जीतने के बाद किसी ग्रैंडस्लैम के फाइनल में जगह बनाने वाले ऑस्ट्रिया के पहले खिलाड़ी हैं। फाइनल में हालांकि थिएम के कड़ी टक्कर देने की उम्मीद थी क्योंकि पिछले दो साल में वह एकमात्र खिलाड़ी थे जिसने नडाल को क्ले कोर्ट में हराया था। थिएम ने इस साल मैड्रिड और पिछले साल रोम में यह उपलब्धि हासिल की।

नडाल शुरू से ही अच्छी लय में दिखे और उन्होंने शानदार शुरुआत करते हुए दूसरे ही गेम में थिएम की सर्विस तोड़ दी जब ऑस्ट्रियाई खिलाड़ी ने फोरहैंड नेट पर मार दिया। सातवें वरीय थिएम पहले दो गेम में एक ही अंक बना पाए।

थिएम ने हालांकि वापसी करते हुए तीसरे गेम में दो फोरहैंड विनर के साथ नडाल की सर्विस तोड़ दी और फिर अपनी सर्विस बचाकर स्कोर 3-3 से बराबर कर दिया। नडाल ने इसके बाद 10वें गेम में एक बार फिर थिएम की सर्विस तोड़कर पहला सेट जीत लिया। थिएम ने इस गेम में तीन बार फोरहैंड शॉट पर गलती करते हुए नेट पर शाट मारे।

नडाल दूसरे सेट की शुरुआत में ही थिएम पर हावी हो गए। उन्होंने दूसरे में के पांचवें ब्रेक प्वाइंट पर थिएम की सर्विस तोड़कर 2-0 की बढ़त बनाई और फिर अपनी सर्विस बचाकर 3-0 से आगे हो गए। थिएम के पास पांचवें गेम में नडाल की सर्विस तोड़ने का मौका था लेकिन स्पेन के खिलाड़ी ने वापसी करते हुए अपनी सर्विस बचा ली। दोनों खिलाड़ियों ने इसके बाद अपनी अपनी सर्विस बचाई और नडाल ने नौवें गेम में अपनी सर्विस बचाते हुए दूसरा सेट भी जीतकर 2-0 की बढ़त बना ली।

तीसरे सेट में भी थिएम बिलकुल भी लय में नहीं दिखे। पहले ही गेम में आस्ट्रियाई खिलाड़ी ने चार ब्रेक पॉइंट बचाते हुए बामुश्किल अपनी सर्विस बचाई। नडाल ने हालांकि तीसरे गेम में थिएम की सर्विस तोड़ दी और फिर अपनी सर्विस बचाकर 3-1 की बढ़त बना ली।

इसे भी पढ़ें-: इंटरकॉन्टिनेंटल कप: कप्तान छेत्री के दम पर भारत बना चैम्पियन, केन्या को दी 2-0 से मात

स्पेन के खिलाड़ी को इसके बाद कोर्ट पर ही अपनी चोटिल अंगुली का उपचार कराना पड़ा। थिएम ने सातवें गेम में नेट पर शाट मारकर नडाल को दो ब्रेक प्वाइंट दिए और फिर फोरहैंड बाहर मारकर अपनी सर्विस गंवा दिया। नडाल इसके बाद खिताब जीतने के लिए सर्विस कर रहे थे। थिएम ने एक चैंपियनशिप प्वाइंट बचाया लेकिन दूसरे चैंपियनशिप पॉइंट पर शॉट बाहर मारकर खिताब नडाल की झोली में डाल दिया।


कमेंट करें