नेशनल

GajaCyclone तमिलनाडु: 20 लोगों की मौत, 81 हजार राहत शिविरों में शिफ्ट

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1837
| नवंबर 16 , 2018 , 14:21 IST

चक्रवाती तूफान 'गाजा' शुक्रवार को तमिलनाडु तट से टकरा गया है। गाजा तमिलनाडु में तबाही मचा रहा है। गाजा तूफान से अब तक 20 लोगों की मौत हो चुकी है। सरकार ने गाजा में मरने वालों के परिजनों को 10 लाख रुपये की सहायता का ऐलान किया है। 

तमिलनाडु सरकार का कहना है कि 471 रिलीफ कैंप बनाए गए हैं। वहीं 81,000 से ज्यादा लोगों को इन राहत सिविरों में सुरक्षित भेजा गया है। 

चक्रवाती तूफान 'गाजा' शुक्रवार को तमिलनाडु तट से टकराया भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुताबिक, शुक्रवार रात 12.30 बजे से 2.30 बजे तक नागापट्टिनम और वेदारायणम के बीच तूफान ने दस्तक दी। इस दौरान 120 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चल रही है।

तमिलनाडु सरकार का कहना है कि तूफान की वजह से टूटे पेड़ों को हटाया जा रहा है। आईएमडी के मुताबिक, तमिलनाडु और दक्षिण केरल में भारी बारिश हो सकती है।

देर रात चेन्‍नई मौसम विभाग ने बताया कि गाजा समुद्र को पूरी तरह पार कर जमीन पर पहुंच जाएगा। इसके जमीन पर आने के साथ ही इसकी भीषणता समुद्र के ऊपर रहने के मुकाबले कुछ कम होगी और धीरे-धीरे इसमें बढ़ोतरी होगी।

बता दें कि गाजा के खतरे को देखते हुए अब तक करीब 60 हजार से ज्‍यादा लोगों को प्रदेश भर के छह जिलों में स्‍थित 331 राहत शिविरों में पहुंचाया जा चुका है।

गाजा तूफान के गुरुवार देर रात दक्षिण तमिलनाडु तट पार करने का अंदेशा जताया गया था। जिन इलाकों से इसके गुजरने का अनुमान है, वहां हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

बंद रहेंगे स्कूल-कॉलेज

तमिलनाडु सरकार पहले ही 30 हजार 500 राहत-बचाव कर्मी तैनात करने की घोषणा कर चुकी है। वहीं तंजौर, तिरुवरुर, पुडुकोट्टई, नागपट्टिनम, कुड्डलूर और रामनाथपुरम के कलेक्टरों ने गुरुवार को स्कूलों और कॉलेजों की छुट्टी घोषित कर दी है। चक्रवाती तूफान के मद्देनजर पुडुचेरी और कराईकल क्षेत्रों में भी गुरुवार को सभी शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे।

अलर्ट पर नौसेना

भारतीय नौसेना को दक्षिण तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों की ओर बढ़ रहे गाजा चक्रवाती तूफान को देखते हुए हाई अलर्ट कर दिया गया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। नौसेना अधिकारियों ने बताया कि पूर्वी नौसेना कमान ने आवश्यक मानवीय सहायता मुहैया कराने के लिए उच्चस्तरीय तैयारी की है।

सहायता के लिए नौसैनिक जहाज तैनात

नौसेना के एक अधिकारी ने बताया कि दो भारतीय नौसैनिक जहाज रणवीर और खंजर मानवीय सहायता और संकट राहत के लिए सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों में आगे बढ़ने के लिए खड़े हैं।  उन्होंने बताया कि इन जहाजों में अतिरिक्त गोताखोर, डॉक्टर, हवा वाली रबड़ की नाव, हेलीकॉप्टर और राहत सामग्री तैयार है।


कमेंट करें