राजनीति

अकाली दल से इस्तीफे के बाद शेर सिंह घुबाया ने थामा कांग्रेस का हाथ

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1893
| मार्च 5 , 2019 , 13:47 IST

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सहयोगी शिरोमणि अकाली दल (शिअद) को झटका देते हुए इसके सांसद शेर सिंह यहां मंगलवार को कांग्रेस में शामिल हो गए। पंजाब में फिरोजपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले घुबाया को औपचारिक रूप से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पंजाब इकाई के प्रमुख सुनील कुमार जाखड़ की मौजूदगी में पार्टी में शामिल कराया गया।

नेतृत्व के साथ करीब दो साल के तनावपूर्ण संबंधों के बाद घुबाया ने सोमवार को शिअद की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था जबकि पार्टी ने दावा किया है कि 'पार्टी विरोधी गतिविधियों' के चलते उन्हें पार्टी से निष्कासित किया गया। घुबाया के कांग्रेस में शामिल होने से पहले भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले और कीर्ति आजाद ने कांग्रेस का दामन थामा था।

उत्तर प्रदेश के बहराइच संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वालीं फुले दो मार्च को कांग्रेस में शामिल हुई थीं जबकि 2015 में भाजपा द्वारा निलंबित दरभंगा के सांसद आजाद 18 फरवरी को कांग्रेस में शामिल हुए। संयोग से, घुबाया के बेटे दविंदर सिंह ने 2017 के पंजाब विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के टिकट पर फाजिल्का सीट से जीत हासिल की थी।

घुबाया के लोकसभा चुनाव से ठीक पहले शिअद से छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने से फिरोजपुर क्षेत्र में काफी असर पड़ने की संभावना है। इससे पहले 2017 में उन्होंने अपने पुत्र दविंदर घुबाया को कांग्रेस टिकट दिलाकर विधानसभा पहुंचाया था। इस्तीफे का कारण बताते हुए घुबाया ने कहा कि वह सुखबीर सिंह बादल की गलत नीतियों के कारण ही पार्टी से इस्तीफा दे रहे हैं। इसके बाद अब यह कयास भी शुरू हो गए हैं कि अब वह कौन सी पार्टी से चुनाव लड़ेंगे।


कमेंट करें