बिज़नेस

16 फरवरी से शुरू होगा झारखंड इन्वेस्टर्स समिट, देश-विदेश की बड़ी कंपनियां लेंगी हिस्सा

icon अमितेष युवराज सिंह | 2
2638
| फरवरी 14 , 2017 , 14:06 IST

झारखंड की राजधानी रांची 16 और 17 फरवरी को होने वाले 'ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2017' के लिए सज-धज कर तैयार है। रांची के खेलगांव में होने वाले दो दिवसीय कार्यक्रम के लिए चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। देश और दुनिया के कई बड़े उद्योगपति और नामी हस्तियां ग्लोबल समिट में शिरकत करने के लिए झारखंड पहुंच रहे हैं। ख़बर है कि देश और विदेश के करीब 6 हजार से ज्यादा प्रतिनिधि 'ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट' में हिस्सा लेंगे।

कार्यक्रम का उद्धाटन:

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली 16 फरवरी को झारखंड 'ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2017' का उद्धाटन करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन:

प्रधानमंत्री झारखंड 'ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2017' में शिरकत नहीं कर रहे हैं। लेकिन 16 फरवरी को पीएम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दिन में 11.24 से 11.29 बजे तक कार्यक्रम को संबोधित करेंगे।

देश के नामी उद्योगपति:

देश के शीर्ष उद्योगपति रतन टाटा, जेएसडब्ल्यू के सज्जन जिन्दल, जेएसपीएल के नवीन जिन्दल, गौतम अडानी और कुमार मंगलम बिड़ला शामिल होंगे।

आकर्षण का केंद्र:

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी झारखंड 'ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2017' में शिरकत करेंगे। रांची महेंद्र सिंह धोनी का गृह शहर है।

E000031046_Banner_JharkhandIDGlobalBlack - Copy

शिरकत करने वाले अन्य उद्योगपति:

टाटा स्टील के टी.वी. नरेंद्रन, महिंद्रा एंड महिंद्रा के राजीव दुबे, एशियन पेंट के आश्विन दानी, डालमिया भारत के पुनीत डालमिया, वेदांता के अनिल अग्रवाल, प्रतीक अग्रवाल, सीईओ टॉम अल्बनेस, रिन्यु पावर के सुमंत सिन्हा, शाही एक्सपोर्ट के हरीश आहुजा, जैन एरिगेशन के एसके मखीजा, बीएसए ग्रुप के बाबा कदम, टेक महिंद्रा के जगदीश मित्रा, ओरिएंट क्राफ्ट के सुधीर ढींगरा, आर्सेलर मित्तल के सीईओ संजय शर्मा, मेडिका चेयरमैन आलोक राय, लिबर्टी के सीईओ आदेश गुप्ता, टाटा हिताची के एमडी संदीप सिंह,एचसीएल टेक्नोलॉजी के फाउंडर राज मल्लिक, मित्सुबिशी के एमडी काजोनोरी कोनोसी, कोरियन कंपनी डीएसपीएन के डायरेक्टर सेन पार्क भी झारखंड की धरती पर पधारेंगे।

उद्योगपति जो भाषण देंगे:

पूर्व कांग्रेस सांसद और उद्योगपति नवीन जिंदल ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट को संबोधित करेंगे। इसके अलावा नौशाद फोर्ब्स (फोर्ब्स इंडस्ट्री), रतन टाटा (टाटा ग्रुप), कुमार मंगलम (बिड़ला ग्रुप), शशि रुइया (एस्सार ग्रुप), पवन मुंजाल (हीरो मोटर ग्रुप), अनिल अग्रवाल (वेदांता ग्रुप), गौतम अडाणी (अडाणी ग्रुप) और चंद्रजीत बनर्जी (सीआइआइ)। भी भाषण देंगे।

11 केंद्रीय मंत्री करेंगे शिरकरत:

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, नगर विकास मंत्री वेंकैया नायडू, भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा, कौशल विकास मंत्री राजीव प्रताप रूडी, कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी, उद्योग मंत्री एस सीतारमण, कोयला मंत्री पीयूष गोयल और नागरिक उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा मोमेंटम झारखंड में शामिल होंगे।

 

26 देशों के उद्योगपति और प्रतिनिधि लेंगे हिस्सा :

26 देशों के प्रतिनिधि झारखंड 'ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2017' की शोभा बढ़ाएंगे। रूस, जापान, चेक रिपब्लिक, मंगोलिया, ट्यूनीशिया, नाइजीरिया, सिंगापुर, सऊदी अरब, गरनेशिया एंड एल्डरनरी, इटली, ओमान, स्वीडन, यूएइ, वेनेजुएला, मंगोलिया, चीन, सूडान, ऑस्ट्रेलिया, यूएसए, कनाडा, गुएना, नेपाल, पाकिस्तान, यूक्रेन, यूके और जांबिया।

जीआईएस का कंट्री पार्टनर: जापान, चेक रिपब्लिक, मंगोलिया और ट्यूनीशिया बना जीआईएस का कंट्री पार्टनर।

 

'ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2017' की बड़ी बातें :

झारखंड ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट में एक हजार से ज्यादा कंपनियों के साथ एमओयू होगा।

-मोमेंटम झारखंड में एचईसी ने भी तीन एमओयू का प्रस्ताव दिया है। तकनीकि सुधार के लिए रूसी कंपनी और मेकॉन के साथ एचईसी एमओयू करेगा।

-स्वीडन की कंपनी कोआलो ग्लोबल ने झारखंड में मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए 10 हजार करोड़ के निवेश का प्रस्ताव दिया है।

-टाटा समूह ने भी राज्य में सस्ती आवास बनाने के लिए 32 हजार करोड़ के निवेश का प्रस्ताव दिया है।

-स्टील प्रोजेक्ट के लिए टाटा स्टील 4,500 करोड़, लौह अयस्क और कोयला खदान के लिए 481 करोड़ रुपए का निवेश पर हस्ताक्षर।

-लाफार्ज सीमेंट अपने प्लांट में एक यूनिट बढ़ाने को लेकर 300 करोड़ रुपए निवेश का एमओयू करेगा।

-अडाणी ग्रुप ने यूरिया, मेथनॉल, वैकल्पिक प्राकृतिक गैस और कैप्टिव पावर प्लांट लगाने के लिए फिर से एमओयू का प्रस्ताव दिया है। बतादें कि कंपनी ने जुलाई 2015 में 50,000 करोड़ के निवेश को लेकर स्टेज वन का एमओयू किया था।

-जेएसडब्ल्यू ने भी 35 हजार करोड़ के पावर प्लांट के लिए स्टेज टू के एमओयू की हामी भरी है।

-झारखंड सरकार कुल 3 लाख 85 हजार करोड़ रुपए के निवेश के लिए 237 एमओयू और एलओआई प्रस्ताव फाइनल कर चुकी है।

झारखंड प्राकृतिक संपदाओं से परिपूर्ण है। इससे बावजूद झारखंड के लोग विकास से महरूम है। शिक्षा, स्वास्थ्य, पानी और अन्य बुनियादी सुविधाएं अभी गांव-गाव तक नहीं पहुंची हैं। हालांकि आजादी के पहले और आजादी के बड़े पैमाने पर उद्योग और कारखाने खुले। लेकिन राजनीतिक इच्छा शक्ति और आधुनिक तकनीकि के आभाव की वजह से आज कई बड़े कल-कारखाने बंद पड़े हैं। झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भरोसा जताया है कि निवेशकों के इस महाकुंभ से सूबे में विकास की गंगा बहेगी।

FIC7217


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें