राजनीति

BJP विधायक का विवादित बयान, पंडित नेहरू को बताया गाय और सुअर खाने वाला

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2145
| अगस्त 11 , 2018 , 12:30 IST

अपने दिए गए बयानो से विवाद में रहने वाले बीजेपी के विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने एक बार फिर पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु के उपर दिए बयानों से सुर्खियों में आ गए हैं। राजस्थान से आने वाले बीजेपी विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के पंडित होने पर सवाल उठाया है। अलवर के रामगढ़ से विधायक आहूजा का कहना है कि नेहरू पंडित नहीं थे और यह उपाधि उनके नाम में कांग्रेस पार्टी ने जोड़ी है।

ज्ञानदेव आहूजा ने कहा, 'नेहरू पंडित नहीं थे। जो शख्स गाय और सुअर का मांस खाता है वह पंडित नहीं हो सकता। कांग्रेस ने उनके नाम में पंडित जोड़ा है।' उन्होंने यह बयान शुक्रवार को भाजपा मुख्यालय का दौरा करने के बाद कहीं। उन्होंने कांग्रेस पर जातिवाद के आधार पर चुनाव लड़ने का आरोप लगाया। रामगढ़ के विधायक ने यह बातें राजस्थान के पीसीसी प्रमुख सचिन पायलट के बयान के बाद कहीं।

सुअर मुसलमानों के लिए नापाक है, गाय हमारे लिए पवित्र है। जो बाकी जीव-जानवरों को खा जाए। वो कभी पंडित नहीं थे, लेकिन उनके आगे ब्राह्मन को जोड़ा गया। '' समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, ज्ञानदेव का मानना है कि जो गाय और सुअर खाए वह पंडित नहीं हो सकता।"

दरअसल, बीजेपी विधायक ज्ञानदेव आहूजा इससे पहले भी कई सारे विवादित बयान दे चुके हैं। राजस्थान के अलवर जिले के रामगढ़ से बीजेपी विधायक ज्ञानदेव आहूजा गो तस्करी के बढ़ते मामलों और गोरक्षा के नाम पर हमलों को लेकर भी विवादित बयान दे चुके हैं। विधायक आहूजा ने कहा था कि तस्करी करोगे, गो-कशी करोगे तो यूं ही मरोगे।

इससे पहले ज्ञानदेव आहूजा ने जेएनयू को लेकर भी बयान दिया था। उन्‍होंने कहा था कि जेएनयू में रोजाना 3000 बीयर की बोतलें, 2000 शराब की बोतलें, 10 हजार सिगरेट के टुकड़े, 4 हजार बीड़ी, 50 हजार हड्डियों के टुकड़े, 2 हजार चिप्स के पैकेट, 3 हजार उपयोग किए गए कंडोम और 500 गर्भपात के इंजेक्शन मिलते हैं। 63 वर्षीय आहूजा ने कहा कि कंडोम हमारी बहनों और बेटियों के साथ 'गलत काम' के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं।

इसे भी पढ़ें-: राजस्थान में आज चुनावी बिगुल फूंकेंगे राहुल गांधी, रोड शो और जनसभा को करेंगे संबोधित

टिप्पणियां दरअसल, राजस्थान में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसलिए अब नेताओं की ओर से बयानबाजियों का दौर शुरू हो जाएगा। भारतीय जनता पार्टी में विवादित बयान देने वाले नेताओं की एक लंबी फेहरिस्त है, जो समय-समय पर ऐसे बयान देते रहते हैं।


कमेंट करें