नेशनल

हॉस्टल में सेनेटरी पैड मिलने पर वार्डन ने चेकिंग के नाम पर उतरवाए छात्राओं के कपड़े

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1447
| मार्च 26 , 2018 , 12:11 IST

मध्य प्रदेश के सागर जिला स्थित डॉ. हरिसिंह गौर यूनिवर्सिटी का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां हॉस्टल की 40 लड़कियों ने हॉस्टल की वार्डन पर निवस्त्र करके तलाशी लेने का आरोप लगाया है। लड़कियों इसके खिलाफ हॉस्टल के सामने प्रदर्शन किया है। लड़कियों का आरोप है कि हॉस्टल के वार्डन ने हॉस्टल परिसर में इस्तेमाल किया हुआ सैनिटरी पैड मिलने पर सभी लड़कियों को निवस्त्र करके तलाशी ली है।

इस शर्मनाक घटना के बाद पीड़ित छात्राओं ने कुलपति को शिकायती पत्र सौंपा है, जिसमें उन्होंने घटना के बारे में बताते हुए हॉस्टल वार्डन और आउटसोर्सिंग वार्डन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

जानकारी के मुताबिक, 24 मार्च को डॉ. हरिसिंह गौर यूनिवर्सिटी के रानी लक्ष्मीबाई कन्या छात्रावास परिसर में इस्तेमाल किया हुआ गंदा सेनेटरी पैड मिला था। इस घटना से हॉस्टल वार्डन और आउटसोर्सिंग वार्डन नाराज हो गईं। ये पता करने के लिए कि खुले में गंदा पैड किसने फेंका है, उन्होंने छात्राओं और उनके कमरों की तलाशी लेना शुरू कर दिया।

कमरों की तलाशी तक सब ठीक रहा, लेकिन वार्डन इतने पर ही नहीं रुकीं और उन्होंने छात्राओं की तलाशी लेते हुए उन्हें कपड़े उतारने का फरमान सुना दिया। खुद को असहाय पाते हुए छात्राओं को ऐसा करना पड़ा। इस घटना का छात्राओं पर गहरा प्रभाव पड़ा और वो शर्मिंदगी महसूस करने लगी।

अपने साथ हुई घटना से छात्राएं सदमे में आ गईं। उन्होंने इसके खिलाफ कार्रवाई के लिए यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर आरपी तिवारी को लिखित शिकायत भेजी। आरपी तिवारी ने कहा, 'यह घटना बेहद दुर्भाग्यवश और निंदनीय है। मैंने छात्राओं से हमेशा कहा है कि वे मेरी बेटियों जैसी हैं और मैं उनसे इस घटना के लिए माफी मांगता हूं।' उन्होंने आगे कहा, 'मैं उन्हें आश्वासन दिया है कि इसके खिलाफ ऐक्शन लिया जाएगा। अगर वॉर्डन दोषी पाई जाती है तो उनके खिलाफ तुरंत कार्रवाई होगी।'


कमेंट करें