राजनीति

तमिलनाडु : तैश में आई शशिकला, बोलीं- पनीरसेल्वम जैसे हजारों देखे हैं हमने

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1849
| फरवरी 13 , 2017 , 20:13 IST

वी के शशिकला ने तमिलनाडु के गवर्नर सी विद्यासागर राव से राज्य में जल्द से जल्द संवैधानिक संकट हल करने और सीएम पद की कमान उनके हाथों में सौंपने की मांग की है। सोमवार को पोश गार्डन के बाहर अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए शशिकला ने कहा कि हमने पनीरसेल्वम जैसे हजारों देखे हैं। हम डरते नहीं हैं किसी से।


पूर्व मुख्य़मंत्री जयललिता की ही तर्ज पर उन्होंने अपने समर्थकों को संबोधित किया और कहा कि पिछले 33 सालों से हम दोनों ने तमिलनाडु की राजनीति में क्या-क्या नहीं देखा है। हम जल्दी घबराने वाले लोगों में से नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि जयललिता जब अस्पताल में मौत से जूझ रही थीं तभी पनीरसेल्वम ने मुझसे सत्ता संभालने को कहा था। लेकिन मैंने इनकार कर दिया, क्योंकि तभी माकूल वक्त नहीं था। और मैंने पनीरसेल्वम को सत्ता सौंप दी।

उन्होंने कहा कि कुछ लोग पार्टी को तोड़ना चाहते हैं लेकिन वो ऐसे लोगों के इरादे को कामयाब नहीं होने देंगी।

बता दें कि तमिलनाडु की सत्ताधारी पार्टी एआईएडीएमके की वीके शशिकला और कार्यकारी सीएम ओ पन्नीरसेल्वम ने सोमवार को राज्य के गवर्नर सी विद्यासागर राव को जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं। हालांकि पांच दिन पहले हुई मुलाकात का अभी तक कोई नतीजा सामने नहीं आ पाया है। इस बीच कुछ और पार्टी के कुछ और नेताओं ने पन्नीरसेल्वम का साथ पकड़ लिया है।

उधर राज्य के कार्यवाहक मुख्यमंत्री ने सोमवार को चेन्नई स्थित मंदिरों में पूजा-अर्चना की और राज्य सचिवालय में जाकर सरकारी कामकाज को फिर से संभाला।

गौरतलब है कि पनीरसेल्वम की ताकत में लगातार इजाफा हो रहा है । पनीरसेल्वम के समर्थन में अभी तक करीब 10 सांसद और छह विधायक हैं।

P 2

पनीरसेल्वम ने कहा है कि अगर सभी विधायकों को छोड़ दिया जाए तो वह सदन में बहुमत साबित कर सकते हैं। जाहिर है उनका इशारा उन 127 विधायकों की तरफ है जिन्हें पिछले बुधवार चेन्नई के बाहर एक होटल में पार्टी प्रमुख शशिकला द्वारा कथित तौर पर नजरबंद करके रखा गया है।

हालांकि शशिकला ने पन्नीरसेल्वम के इस आरोप को नकारा है कि इन विधायकों को कैद करके रखा गया है। शशिकला ने कहा है कि उनके पास पर्याप्त बहुमत है और राज्यपाल को उन्हें जल्द से जल्द सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करना चाहिए। 

Sp 1


कमेंट करें