नेशनल

हिज्बुल कमांडर रियाज का वेरीफाइड Twitter हैंडल! फजीहत के बाद अकाउंट सस्पेंड

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1478
| नवंबर 17 , 2018 , 16:25 IST

सोशल मीडिया में हिज्बुल कमांडर रियाज नायकू के वेरीफाइड ट्विटर हैंडल का स्क्रीन शॉट वायरल हो रहा है। रियाज नायकू का ट्विटर हैंडल वेरीफाइड है या नहीं है, या यह एक फेक स्क्रीन शॉट है। इस पर बहस नहीं भी हो तो यह एक चिंता की बात जरूर है कि सरकार और ट्विटर के विजिलेंस और सख्ती के बाद भी आखिर कैसे हिज्बुल कमांडर रियाज नायकु का ट्विटर हैंडल वेरीफाइड हो जाता है? क्या ट्विटर सेल्फ रेगुलेशन की नीति को गंभीरता से नहीं लेता है? क्या सरकार का सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नियंत्रण नहीं है? हिज्बुल मुजाहिदीन(जम्मू कश्मीर) के कमांडर रियाज नायकू अपने वैरीफाइड ट्विटर हैंडल से ट्विट करते हैं और भारत के खिलाफ हिंसा और खून खराबे की बात करते हैं। 

रियाज ने अपने एक ट्वीट में लिखा है - जो हमारे मिशन में बाधा पहुंचाने का काम करेगा या रोकने का काम करेगा उसे हम बेरहमी से मार देंगे, जान ले लेंगे। अब हम इंडियन आर्मी या भारत सरकार के किसी मुखबिर को चेतावनी नहीं देंगे बल्कि सीधे उनका कत्ल कर देंगे, ऐसा हमारे कमांडर का ऑर्डर है। हालांकि ट्वीटर ने फजीहत से बचने के लिए तत्काल ही रियाज नायकू का अकाउंट सस्पेंड कर दिया है।

Riyaz 1

हैरानी की बात यह है कि हाल ही में 12 नवंबर को गृह मंत्रालय के शीर्ष अधिकारी और ट्विटर के अधिकारियों के बीच कई दौर की मीटिंग हुई थी। इस बैठक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हिंसा, जातीय, नस्लीय और खून-खराबे वाले कंटेट पर बैन लगाने के साथ विजिलेंस की बात पर भी सहमति बनी थी। हेट कंटेट और आतंकी गतिविधियों पर लगाम कसने के लिए एडवाइजरी भी बनाई गई थी। इस बैठक में ट्विटर की तरफ से महिमा कौल, लेगल पॉलिसी के ग्लोबल हेड विजया गाड़े और होम सेक्रेटरी भरत गौड़ शामिल थे।

बता दें कि शुक्रवार को जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकवादियों ने एक युवक का अपहरण कर बाद में उसकी हत्या कर दी थी। उसके बाद हिज्बुल मुजाहिदीन ने इस हत्या की जिम्मेदारी भी ली। खास बात यह है कि बिल्कुल ISIS की तर्ज पर हिज्बुल मुजाहिदीन ने इस हत्या का वीडियो बना कर जारी किया था। कश्मीर के युवाओं को खौफ दिखाने के लिए हिज्बुल ने ऐसा किया था।

कौन है रियाज नायकू

जम्मू और कश्मीर में पुलिसवालों के परिवार के युवकों के अपहरण और हत्या ने एक बार फिर से घाटी के रियाज अहमद नायकू को वापस सामने ला दिया। वह घाटी का सबसे वांटेड आतंकी है। 30 साल का नायकू सुरक्षा एजेंसियों के रडार पर 2016 में पोस्टर ब्वॉय बुरहान वानी की मौत के बाद आना शुरू हुआ था। उसके सिर पर 12 लाख रुपए का ईनाम है।
अवंतीपुरा के दुरबग के नायकू मोहल्ले का निवासी नायकू घाटी के वांछनीय आतंकियों की A++ श्रेणी में आता है। उसने घाटी में पिछले साल सबजार भट की मौत के बाद हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर का पद संभाला है।

 


कमेंट करें