नेशनल

पाक को डराया भारतीय तेवर तो इमरान खान ने प्रेस कांफ्रेंस कर दी भारत को 'गीदड़ भभकी'

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2889
| फरवरी 19 , 2019 , 13:53 IST

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के बाद भारत के साथ बढ़े ‘‘तनाव को कम’’ करने के लिए पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र से तत्काल हस्तक्षेप करने की अपील की है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने बताया कि देश के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस को सोमवार को पत्र भेजकर दोनों देशों के बीच तनाव कम करने में उनकी मदद मांगी है।

तो दूसरी तरफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक वीडियो जारी करके बताया कि पाकिस्तान प्रिंस के दौरे के वक्त ऐसी हरकत क्यों करेगा जिससे कि स्थिति खराब हो, हम खुद 15 साल से आतंकवाद से लड़ रहे हैं। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि हिंदुस्तान की सरकार ने पाकिस्तान के ऊपर इल्जाम लगाया, लेकिन सऊदी प्रिंस के दौरे को लेकर हमारा ध्यान था। जब क्राउन प्रिंस वापस गए हैं इसलिए अब मैं जवाब दे रहा हूं।

हिंदुस्तान की सरकार ने बिना किसी सबूत के पाकिस्तान पर इल्जाम लगा दिया, पाकिस्तान क्यों करेगा, इससे हमें क्या फायदा. अगर भारत की सरकार हमें कोई सबूत देगी तो हम इस मसले पर जांच करने के लिए तैयार है।

इमरान खान ने आगे कहा कि पिछले 15 साल से हम आतंकवाद के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं, इससे हमें कोई फायदा नहीं है। हर बार कश्मीर में कुछ भी होता है तो पाकिस्तान पर इल्जाम लगाया जाता है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर हिंदुस्तान कोई जांच कराना चाहता है तो हम जांच करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि हम आतंकवाद पर बात करने को तैयार हैं, हम इसे खत्म करना चाहते हैं। पाकिस्तान को आतंकवाद से काफी नुकसान हुआ है।

इमरान खान ने कहा कि एक नई सोच आनी जरूरी है, कश्मीर के नौजवानों पर से आज मौत का डर ही उतर चुका है। उन्होंने कहा कि अगर आज अफगानिस्तान के अंदर ये तय हो चुका है कि सेना ही हल नहीं है, तो हिंदुस्तान में भी कश्मीर को लेकर बात होनी चाहिए।

इमरान ने कहा कि हिंदुस्तान में लोग कह रहे हैं कि पाकिस्तान को सबक सिखाना चाहिए। कोई भी कानून किसी को जज बनने की इजाजत नहीं देता है, चुनाव का साल है इसलिए आप इस तरह की बातें कर रहे हैं। अगर आप सोचते हैं कि पाकिस्तान पर हमला करना चाहिए तो हम जवाब देने के लिए बिल्कुल तैयार हैं। उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि जंग शुरू करना आसान है, लेकिन इसे खत्म करना काफी मुश्किल है। इमरान ने कहा कि दोनों देशों के बीच जो मसला है वो सिर्फ बातचीत से ही हल होगा।


कमेंट करें