बिज़नेस

CCD पर आयकर विभाग की छापेमारी , 650 करोड़ की अघोषित संपत्ति का खुलासा

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
1774
| सितंबर 25 , 2017 , 16:53 IST

आयकर विभाग ने रविवार को कैफे कॉफी डे (सीसीडी) की समूह कंपनियों पर छापेमारी की है। इस कंपनी की स्थापना चिकमंगलूर में जन्मे उद्यमी वीजी सिद्धार्थ ने की थी। वीजी सिद्धार्थ कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एस. एम. कृष्णा के दामाद है। आयकर विभाग ने छापेमारी में 650 करोड़ रुपये की अघोषित आय (ब्लैक मनी) का खुलासा किया है।

कंपनी के संचालक वीजी सिद्धार्थ पर्यटन, सूचना प्रौद्योगिकी और अन्य क्षेत्रों के कारोबार से भी जुड़े हुए हैं। विभाग के अनुसार अबतक 650 करोड़ रुपये की अघोषित आमदनी का पता लगाया गया है। यह आकड़ा बढ़ने की उम्मीद है क्योंकि बरामद दस्तावेजों की जांच की जानी बाकी है। इस मामले में नियमों के उल्लंघन की बातें सामने आई हैं और इससे संबंधित पुख्ता सबूत भी मिले हैं। हालांकि इस मामले में अभी तक सिद्धार्थ की ओर से कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

आयकर विभाग ने बैंगलुरु के अलावा मुंबई, चेन्नई और चिकमंगलूर शहरों में 20 से ज्यादा जगहों पर छापे मारे।चेन्नई में कृष्णा परिवार से जुड़ी कंपनी स्किल लॉजिस्टिक प्राइवेट लिमिटेड में भी तलाशी की गई है। देशभर में सीसीडी के 1640 से ज्यादा आउटलेट, 31000 से अधिक वेंडिग मशीन और 12000 से अधिक कॉरपोरेट खाते हैं। वर्ष 1993 में बेंगलुरु में एक आउटलेट से इसकी शुरुआत हुई थी।

आपको बता दें कि 46 वर्ष कांग्रेस में बिताने के बाद एसएम कृष्णा ने इस वर्ष मार्च महीने में बीजेपी ज्वाइन की थी। कृष्णा यूपीए सरकार में बतौर विदेश मंत्री भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

10 फीसद से ज्यादा टूटे कंपनी के शेयर-

आयकर विभाग की छापेमारी की खबरों के बाद कैफे कॉफी डे के शेयर्स में 10 फीसद से ज्यादा की गिरावट देखने को मिल रही है। बीएसई पर करीब 1.30 बजे कंपनी के शेयर्स 10.44 फीसद की कमजोरी के साथ 207.70 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। कंपनी के शेयर्स ने दिन का उच्चतम 220.60 का स्तर और निम्नतम 204.65 का स्तर छुआ है। इसका 52 हफ्तों का उच्चतम 276.85 का स्तर और निम्नतम 190.50 का स्तर रहा है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें