इंटरनेशनल

अमेरिका में भारतीय दूतावास की टेलीफोन लाइन्स से छेड़छाड़ कर ठगी की कोशिश

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
717
| मार्च 5 , 2018 , 19:17 IST

अमेरिका के भारतीय दूतावास के टेलीफोन लाइनों के साथ छेड़छाड़ करके लोगों से ठगी ररने का मामला सामने आया है। फर्जी कॉल के प्रति जागरूकता चलाने वाले एक संस्थान ने एडवाइजरी जारी करके इसके बारे में सबको बताया है। खबर है कि छेड़खानी लोगों से ठगी के लिए की गई थी।

भारतीय दूतावास ने इसको लेकर अमेरिकी सरकार को जानकारी दी है और खुद अपनी आंतरिक जांच शुरू कर दी है। इसके साथ ही दूतावास ने फर्जी कॉल को लेकर पब्लिक एडवाइजरी भी जारी की है।

अधिकारियों के अनुसार यह लोग क्रेडिट कार्ड की जानकारी लेते हैं या भारतीय मूल के लोगों को फोन करके कहते हैं कि उनके पासपोर्ट, वीजा फॉर्म्स या इमीग्रेशन फॉर्म्स में गड़बड़ी है। जिसे कुछ कीमत चुकाकर ठीक कराया जा सकता है। ठग चेतावनी भी देते हैं कि इन गड़बड़ियों को ठीक नहीं किया गया तो आपका वीजा कैंसल भी हो सकता है।

Business-telephone-hacker-520x281

अमेरिका में रहने वाले कुछ भारतीयों, जिन्हें ऐसी कॉल आई हैं, ने भारतीय दूतावास को इस बारे में जानकारी दी कि कुछ लोग भारतीय दूतावास की फोन लाइन में छेड़छाड़ कर लोगों को ठगने के लिए फोन कर रहे हैं।

कुछ लोगों ने बताया कि ठगी करने वाले लोग उन्हें फोन कर कहते हैं कि उन्हें यह जानकारी दूतावास या इंडियन अथॉरिटी से मिली है। ऐसी शिकायतों के बाद भारतीय दूतावास ने इसकी जानकारी इकट्ठा करनी शुरू कर दी हैं। साथ ही उस वेस्टर्न यूनियन अकाउंट नंबर की जानकारी भी जुटाई जा रही है, जिसमें पैसा जमा कराया जाता है।

दूतावास ने अपनी अडवाइजरी में साफ किया कि उनके दूतावास से गई किसी भी कॉल में किसी भी व्यक्ति की व्यक्तिगत जानकारी नहीं मांगी जाती हैं। यदि कभी किसी डॉक्युमेंट की डिमांड होती है तो उसके लिए ऑफिशल डोमेन से मेल किया जाता है।

भारतीय दूतावास ने अमेरिका में रह रहे लोगों से अपील की है कि वे भारतीय दूतावास के नाम से आई किसी भी कॉल पर ध्यान न दें। पहले कॉल के सही होने की पुष्टि कर लें। साथ ही लोगों से कहा कि ऐसी कॉल के जरिए मांगी गई व्यक्तिगत जानकारी भी किसी से साझा न करें।

शायद ऐसा पहली बार हो रहा है कि भारतीय दूतावास की फोन लाइन में छेड़छाड़ करके ऐसी धोखाधड़ी की जा रही है।

इसे भी पढ़ें-: इस लड़की से होगी देश के सबसे अमीर बैचलर आकाश अंबानी की शादी?

अमेरिकी सरकार से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि ऐसी कुछ शिकायत उन्हें अन्य दूतावासों से भी मिली हैं। अधिकारियों का कहना है कि इस तरह की छेड़छाड़ करना बेहद आसान हो गया है। ऐसे में इन लोगों को पकड़ना भी मुश्किल है।


कमेंट करें