नेशनल

हिज्बुल मुजाहिदीन का नया फरमान, भारतीय सेना से दूर रहें घाटी की लड़कियां

रवि शर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
722
| मई 31 , 2018 , 18:11 IST

होटल में मेजर लीतुल गोगोई और कश्मीरी महिला के साथ-साथ जाने  पर विवाद हो गया था ।इसके बाद सेना में हड़कंप मच गया था और कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दिए गए थे। लड़की की मां का आरोप था कि मेजर अपने एक दोस्त के साथ उनके घर आए थे और उनकी बेटी से बातचीत की थी। वहीं लड़की ने मजिस्ट्रेट के सामने कहा था कि वह अपनी मर्जी से मेजर के साथ गई थी। वह उनकी फेसबुक पर दोस्त है और कई बार पहले भी उनसे मिल चुकी है।

Majer12

इस सारे विवाद के बाद हिज्बुल मुजाहिदीन ने एक ऑडियो जारी करते हुए कहा है कि घाटी की महिलाएं सेना के जवानों से दूर रहें क्योंकि आतंकवादियों को पकड़ने के लिए उन्हें बतौर हनी ट्रैप के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। कमांडर रियाज नायकू द्वारा जारी किए टेप में कहा गया है कि सेना बहुत नीचे गिर गई है वह कश्मीरी लड़कियों को हनी ट्रैप के तौर पर नियुक्त करके उन्हें हमपर जासूसी करने के लिए इस्तेमाल कर रही है। यही नहीं, रियाज ने कहा, 'हमें जानकारी मिली है कि सेना लड़कियों को हिज्बुल के खिलाफ जासूस के रूप में प्रयोग कर रही है। आर्मी कश्मीरी लड़कियों को ब्लैकमेल कर रही है और हमारे खिलाफ भर रही है।' 

ऑडियो में नायकू ने भारतीय सेना पर आरोप लगाया है कि वह टूर को स्पॉन्सर करके इसका इस्तेमाल हमारी जासूसी करने के एक हथियार के तौर पर कर रही है। हिजबुल कमांडर ने मां-बाप को चेतावनी दी है कि वह अपनी बेटियों को इस तरह के टूर में ना भेजें वरना उन्हें इसके गंभीर अंजाम भुगतने होंगे। बता दें कि सद्भावना मिशन के तौर पर सेना दूसरी चीजों के साथ ही घाटी के स्कूली बच्चों को देश के विभिन्न हिस्सों में घुमाने के लिए लेकर जाती है।

हिज्बुल कमांडर रियाज नाइकू ने दी धमकी रियाज ने कहा कि अपने सद्भावना मिशन के तहत आर्मी घाटी में रहने वाले स्कूली बच्चों को देश के अलग-अलग स्थानों पर घुमाने के लिए ले जाती है। नाइकू ने ऐसे कार्यक्रमों पर आपत्ति जताई और कहा, 'हम उन माता-पिता को नहीं बख्शेंगे जो अपनी बेटियों को आर्मी टूर पर भेजते हैं। यदि छात्र-छात्राओं को आर्मी टूर पर भेजने का दबाव बनाया तो शिक्षकों को भी नहीं बख्शा जाएगा। मैं युवाओं से आग्रह करता हूं कि आर्मी की गतिविधियों और उनके मुखबिर मत बनिए।'


कमेंट करें