अभी-अभी

जयपुर के मेयर का फरमान, जिसे राष्ट्रगान-राष्ट्रीय गीत नहीं गाना वह पाकिस्तान जाए

अमितेष युवराज सिंह | न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
450
| अक्टूबर 31 , 2017 , 17:56 IST

जयपुर नगर निगम ने अपने कर्मचारियों को हर रोज काम की शुरुआत करने से पहले राष्ट्रगान और काम खत्म होने के बाद राष्ट्रगीत वंदे मातरम गाने का निर्देश दिया है। इस संबंध में सोमवार को जारी किया गया निर्देश मंगलवार से प्रभावी हो गया, जब जेएमसी के सभी कर्मचारियों ने सुबह राष्ट्रगान गाया।

जयपुर के मेयर अशोक लाहोटी ने कहा, "मुझे लगता है कि इससे कर्मचारियों में सकारात्मक संस्कृति और सकारात्मक ऊर्जा पनपेगी और उनमें राष्ट्रभक्ति का भाव जगेगा।" उन्होंने कहा कि स्पीकर्स पर राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत बजाया जाएगा और इसके लिए कर्मचारियों को एक ही स्थान पर एकत्र होने की जरूरत नहीं है।

लाहोटी ने कहा कि जो राष्ट्रगान या राष्ट्रगीत नहीं गाना चाहता, वह पाकिस्तान जा सकता है।

मेयर लाहोटी ने कहा, ‘जिस देश में रहते हो, उस देश के राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत का भी विरोध करना है, बिल्कुल करें, इसके लिए कोई मना नहीं है। फिर पाकिस्तान में जाएं। मैं अगर नगर निगम का काम कर रहा हूं और नगर निगम का विरोध करूं तो इसका कोई औचित्य नहीं है।’

यह निर्देश सोमवार को जारी किया गया था, जिसमें सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को मंगलवार सुबह से 9.50 बजे राष्ट्रगान और शाम 5.55 बजे राष्ट्रगीत गाना अनिवार्य कर दिया गया। सुबह राष्ट्रगान गाए जाने के बाद उपस्थिति के लिए बायोमैट्रिक मशीन काम करना बंद कर देगी।

महापौर के इसी बयान का कांग्रेस और मुस्लिम समाज के विभिन्न संगठनों ने विरोध किया। जयपुर के एक मुस्लिम काउंसलर ने कहा कि "ये देश किसी के बाप का नहीं है "। मुस्लिम काउंसलर तैयब खान ने कहा कि यह असली मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए किया जा रहा है। उन्होंने कहा किसी को भी कोई काम करने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता । इधर राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी की उपाध्यक्ष और प्रवक्ता अर्चना शर्मा ने महापौर की पहल का विरोध करते हुए कहा कि इस तरह के आदेश देना गलत है।

हालांकि बाद में बयान को लेकर उठे बवाल के बाद अर्चना शर्मा ने कहा कि हमने राष्ट्रगीत और राष्ट्रगान का विरोध नहीं किया, हम तो समर्थन करते हैं। हमारा तो यह कहना है कि तिरंगा यात्रा के दौरान भाजपा के ही लोगों ने राष्ट्रीय ध्वज को सड़कों पर डाल दिया और फिर भाजपाई इसके ऊपर से गुजरे थे।


कमेंट करें