राजनीति

हिमाचल: जयराम ठाकुर ने ली CM पद की शपथ, कैबिनेट में ये चेहरे हुए शामिल

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
938
| दिसंबर 27 , 2017 , 16:49 IST

जयराम ठाकुर ऐतिहासिक रिज मैदान में हिमाचल प्रदेश के 13वें मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया। शपथ ग्रहण के दौरान रिज मैदान पर मौजूद लोगों ने जय श्री राम के नारे भी लगाए। 

 

इस शपथ ग्रहण कार्यक्रम में पीएम मोदी भी पहली बार मौजूद रहे। शिमला के रिज मैदान पर हो रहे शपथ ग्रहण कार्यक्रम में राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने जयराम ठाकुर को पद और गोपनीयता की शपथ दिलवाई।

पीएम केे अलावा गृह मंत्री राजनाथ सिंहभाजपा अध्यक्ष अमित शाह, पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी और राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी समेत कई केंद्रीय मंत्री, यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ के अलावा अन्‍य कई मुख्यमंत्री मौजूद रहे।

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल के चुनाव हारने के बाद जयराम ठाकुर के नाम पर मुहर लगी है।

सीएम जयराम ठाकुर समेत 11 मंत्री ने ली शपथ -
महेंद्र सिंह
शिमला से सुरेश भारद्वाज
मंडी से अनिल शर्मा
कांगड़ा जिले से सरवीण चौधरी
लाहौल से रामलाल माक्रडेय
कांगड़ा जिले से विपिन परमार
विरेंद्र कनवर
विक्रम सिंह
गोविंद सिंह
सोलन से डॉ.राजीव सहजल

पांच बार के विधायक, अपनी विनम्रता के लिए प्रसिद्ध और साफ छवि और जमीनी जुड़ाव वाले जयराम ठाकुर हिमाचल प्रदेश के 14वें मुख्यमंत्री होंगे। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रविवार को इसकी घोषणा की थी। भाजपा विधायक दल की बैठक में सर्वसम्मति से इस बारे में फैसला लिया गया था।

बता दें कि हिमाचल की 68 विधानसभा सीटों में से बीजेपी ने 44 सीटों पर जीत दर्ज की है। लेकिन चुनाव में बीजेपी के सीएम का चेहरा रहे प्रेम कुमार धूमल नहीं जीत सके। इसके बाद कई दिन तक माथापच्ची के बाद पार्टी आलाकमान ने मुख्यमंत्री के लिए जयराम ठाकुर के नाम पर मुहर लगाई। उनके नाम के ऐलान से पहले इस रेस में केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा, सुरेश भारद्वाज, नरेंद्र बरागटा और प्रेम कुमार धूमल का नाम चल रहा था। लेकिन युवा चेहरा, संघ के बैकग्राउंड और राज्य की सियासत में जमीनी पकड़ के चलते बाजी जयराम के नाम रही।

दरअसल, जयराम बीजेपी के आलाकमान से लेकर पीएम नरेंद्र मोदी की पहली पसंद बताए जाते हैं।

जानें कौन हैं जयराम ठाकुर-

जयराम ठाकुर वल्लभ कालेज मंडी से बीए की पढ़ाई कर रहे थे तो उन्होंने एबीवीपी के माध्यम से छात्र राजनीति में प्रवेश किया। यहीं से शुरूआत हुई जय राम ठाकुर के राजनीतिक जीवन की। जय राम ठाकुर ने इसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा।

जयराम ठाकुर एबीवीपी से जुड़े रहने के बाद साथ-साथ संघ के साथ भी जुड़े और कार्य करते रहे। जयराम ठाकुर ने जम्मू-कश्मीर जाकर एबीवीपी का प्रचार किया और 1992 को वापिस घर लौटे।

Jayram


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें