नेशनल

सारी कड़वाहट भुलाकर केजरीवाल के डिनर में शामिल हुए जेटली, लोगों ने ऐसे लिए मजे

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
3127
| जनवरी 19 , 2018 , 10:48 IST

गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने प्रतिद्वंदी बीजेपी लीडर अरुण जेटली और नितिन गडकरी से मिले। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के साथ उन्होंने यमुना सफाई अभियान पर चर्चा की।

वहीं शाम को वो वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ डिनर पार्टी में दिखे।

दोनों पास में बैठे, उनके बीच बातचीत हुई और दोनों के चेहरों पर मुस्कराहट दिख रही थी। इस दुर्लभ संयोग को देखकर डिनर में शामिल अतिथि भी काफी अच्छा महसूस कर रहे थे।

हालांकि, दोनोंं के इस डिनर पर राजनीति भी शुरू हो गई है। हालांकि, इस मामले में राजनीति भी शुरू हो गई है। कांग्रेस नेता अजय माकन ने इस डिनर पर तंज कसते हुए कहा है कि बदले-बदले से सरकार नजर आते हैं।

ये डिनर पार्टी जीएसटी काउंसिल की तरफ से आयोजित थी। दोनों ही नेताओं से अरविंद केजरीवाल काफी गर्मजोशी से मिले।इस मुलाकात की तस्वीरें भी सामने आईं। तस्वीरें सामने आते ही ये सोशल मीडिया में वायरल होने लगीं। लोग इन तस्वीरों के जरिये अरविंद केजरीवाल के मजे ले रहे हैं।

आपको बता दें कि अरविंद केजरीवाल का इन दोनों ही नेताओं के साथ कानूनी विवाद चल रहा है। जहां नितिन गडकरी ने उनपर मानहानि का मुकदमा किया था वहीं अरुण जेटली पर डीडीसीए में घोटाले को लेकर अरविंद केजरीवाल ने केस फाइल किया हुआ है। इतनी कानूनी तल्खी के बाद जब केजरीवाल की इन दोनों से मुलाकात हुई तो ट्विटर यूजर्स ने मजे लेने शुरू कर दिये।

जहां कुछ यूजर्स इस मुलाकात पर लिख रहे हैं कि क्या पीएम मोदी को अपने इन दोनों मंत्रियों से ये नहीं पूछना चाहिए कि जिसने उन्हें कायर और सनकी कहा उससे क्यों मिल रहे हैं। वहीं बहुत से यूजर्स लिख रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल दोनों से माफी मांगने गये होंगे। लोग लिख रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल के साथ जो इन दोनों की कानूनी लड़ाई चल रही है उसी के लिए दिल्ली सीएम माफी मांगने गए होंगे। कुछ यूजर्स ये भी लिख रहे हैं कि राजनीति में कोई भी स्थायी दोस्त या दुश्मन नहीं होता।

जीएसटी की बैठक खत्म होने के बाद जब राज्यों के वित्त मंत्री और वरिष्ठ अधिकारी आयोजन स्थल विज्ञान भवन के हॉल से बाहर आ रहे, तो सात घंटे से खबरों के इंतजार में लगे पत्रकारों ने उन्हें घेर लिया। ज्यादातर राज्यों के वित्त मंत्री पत्रकारों को बाइट देने में लग गए लेकिन दिल्ली के डिप्टी सीएम और वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने पत्रकारों से बात करने से मना कर दिया। वे थोड़े अधीर दिख रहे थे। उन्होंने सभी राज्यों के वित्त मंत्रियों के कान में कुछ बात कही और उसके बाद अपने अधिकारियों-कर्मचारियों को कुछ निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जीएसटी कौंसिल की बैठक में आए सभी सदस्यों के लिए दिल्ली के मशहूर फाइव सेंसेज गार्डन में डिनर आयोजित किया था। केजरीवाल सीधे डिनर वेन्यू पर पहुंच गए थे और उन्होंने मनीष सिसोदिया को जिम्मेदारी दी थी कि वे जीएसटी कौंसिल के सदस्यों को लेकर वहां पहुंचें।

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली घर जाने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन सिसोदिया ने उनसे भी डिनर में चलने का अनुरोध किया। जेटली ने अपने जूनियर मंत्री शिव प्रताप शुक्ला से पूछा कि क्या उन्होंने गार्डन (डिनर आयोजन स्थल) देखा है? शुक्ला ने कहा नहीं, लेकिन उन्होंने कहा कि वे भी डिनर में चलने को तैयार हैं। इसके बाद वित्त मंत्री केजरीवाल के डिनर में पहुंचे। सभी लोगों को यह देखकर काफी अच्छा लगा, क्योंकि मानहानि मामले में दोनों नेताओं के बीच बनी कड़वाहट किसी से छिपी नहीं है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें