इंटरनेशनल

जापान की राजकुमारी करेंगी आम शख्स से शादी, छिन जाएगा राजपाट और शाही दर्जा

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2046
| जून 28 , 2018 , 17:27 IST

जापान की राजकुमारी अयाको आम नागरिक केई मोरिया से शादी करने जा रही हैं। केई एक शिपिंग फर्म में काम करते हैं। जापान के कानून के मुताबिक, अगर राजकुमारी आम नागरिक से शादी करें तो उनका शाही दर्जा छिन जाता है। वहीं, राजकुमारों के आम लड़की से शादी करने पर उनके शाही दर्जे पर कोई फर्क नहीं पड़ता।

Hgkdfhglkjdf

जापान में ये दूसरा मौका है जब किसी राजकुमारी का शाही दर्जा छीना जाने वाला है। पिछले साल सितंबर में अयाको की चचेरी बहन राजकुमारी माको ने भी एक सामान्य शख्स और अपने कॉलेज के दोस्त केई कोमुरो से सगाई की थी।

बढ़ती उम्र और स्वास्थ्य कारणों के चलते जापान के राजा अकीहितो (84) अगले साल रिटायर होने की योजना बना रहे हैं। अगर ऐसा होता है तो मई 2019 में राजकुमार नारुहितो जापान के अगले राजा होंगे। जापान में भगवान के बाद दूसरे क्रम पर राजा का दर्जा माना जाता है, लेकिन अकीहितो ने राजा के पद को आधुनिक रूप दे दिया। राजकुमारी माको और उनके मंगेतर केई कोमुरो की इसी साल नवंबर में शादी करने की योजना थी, लेकिन अब वे राजा अकीहितो के राजगद्दी छोड़ने के बाद 2020 में शादी करेंगी।

Lkjhgfd

राजकुमारी अयाको टोक्यो के मेइजी जिंगु मंदिर में 29 अक्टूबर को शादी करेंगी। इसके साथ ही वे राजपरिवार छोड़ देंगी। हालांकि, राजपरिवार उन्हें 10 लाख डॉलर का बोनस देगा।

अयाको ने जापान की जोसाई इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी सोशल वेलफेयर में मास्टर की डिग्री ली है। उन्होंने 2010 और 2011 में यूनिवर्सिटी की तरफ से एक्सचेंज टूर के तहत कनाडा में ब्रिटिश कोलंबिया के कैमसन कॉलेज के भी दो टूर किए। इसके बाद 2013 में वो फिर कैमसन कॉलेज गईं और इंग्लिश स्टडीज शुरू की। 2015 में पढ़ाई पूरी होने के बाद वो जापान लौटीं। फिलहाल वो जोसाई इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी में सोशल वर्क स्टडीज फैकल्टी में एक रिसर्च फेलो हैं।

Feature__japan

शाही परिवार की महिलाओं को राजगद्दी पर बैठने का अधिकार नहीं है। राजपरिवार में पुरुष उत्तराधिकारी की कमी के चलते महिलाओं को राजगद्दी सौंपने की चर्चा शुरू हुई। 2006 में राजपरिवार में प्रिंस हिसाहितो पैदा हुए। इसके साथ ही महिलाओं को राजगद्दी दिए जाने पर बहस भी खत्म हो गई।


कमेंट करें