मनोरंजन

मेरी सफलता-संघर्ष के लिए न किसी को दोष न किसी को श्रेय: करीना कपूर

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1970
| फरवरी 25 , 2019 , 14:00 IST

चाहे बॉडी शेमिंग झेलने के बाद 'साइज जीरो' से दर्शकों को हैरान करना हो या करियर के शिखर पर होने के दौरान शादी करना और फिर रैंप पर बेबी बंप के साथ वॉक करना हो या बच्चे के जन्म के कुछ समय बाद ही काम पर लौट आना हो, अभिनेत्री करीना कपूर खान ने यह सभी कुछ किया है।

50100443_308839183312948_4687284281098386381_n

करीना की झोली में दो बड़े बजट की फिल्में और कई विज्ञापन हैं। अभिनेत्री का कहना है कि उन्होंने केवल और केवल खुद के फैसलों के बलबूते अपना मुकाम बनाया है और उपलब्धियां हासिल की हैं।

49986752_526540037855688_5552619305867359621_n

करीना ने यहां आईएएनएस को दिए साक्षात्कार में बताया, "जब मैंने फिल्म उद्योग में अपने सफर की शुरुआत की थी, उस समय कोई खाका नहीं तौयार किया था। मैंने कम उम्र में शुरुआत कर दी थी।"

45858379_754226154976189_3599241505049763054_n

उन्होंने कहा, "लेकिन, निश्चित रूप से मैंने अपनी छवि बनाई है क्योंकि मैं अपने चयन को लेकर काफी सचेत रही हूं।

35276115_2021261314789459_6679608455285702656_n

हर फिल्म, ब्रांड का प्रचार या सामाजिक कार्य जिससे भी मैं जुड़ी, इन सबके बारे में मैंने फैसला खुद किया।"

45366383_2246944475517896_8328217293040106471_n

अभिनेत्री ने कहा, "अब तक मैंने जो भी हासिल किया, मनोरंजन व्यवसाय में जिस तरह से मेरे करियर ने आकार लिया..यह सब मेरा है।

37508167_455619101597149_7435090823240220672_n

मैं अपनी सफलता और संघर्ष के लिए न किसी को श्रेय दूंगी और न आरोप लगाऊंगी।" लेकिन, वह अपने अंदर के बेहतरीन अभिनय को बाहर लाने के लिए निर्देशकों को श्रेय देती हैं।

39523510_930067750510434_6200107319833919488_n

उन्होंने कहा, "मैंने हमेशा कहा है कि मैं वास्तव में डायरेक्टर की एक्टर हूं। तो, अगर मुझे फिल्मों में अच्छे अभिनय का श्रेय देना होगा तो मैं डायरेक्टर को दूंगी, जिन्होंने मेरे अंदर के कलाकार को बाहर निकाला।"

39252532_1954254041537098_3749944720755785728_n

'चमेली', 'ओमकारा', 'कभी खुशी कभी गम' और 'उड़ता पंजाब' जैसी बेहतरीन फिल्म में काम कर चुकीं करीना को स्वस्थ इम्युनाइज्ड इंडिया कैम्पेन की एंबेसडर बनाया गया है, जिसका उद्देश्य बच्चों के टीकाकरण के बारे में जागरूकता पैदा करना है।


कमेंट करें