राजनीति

कभी चावल मिल में क्लर्क की नौकरी करने वाले येदियुरप्पा कैसे बने कर्नाटक के मुख्यमंत्री?

अमितेष युवराज सिंह | न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 25
10128
| मई 17 , 2018 , 12:56 IST

बी एस येदियुरप्पा तीसरी बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री बन चुके हैं। तमाम राजनैतिक ड्रामे के बीच गुरुवार को येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली। येदियुरप्पा ने इस चुनाव में बीजेपी को को जिताने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। 

कौन हैं बीएस येदियुरप्पा

कर्नाटक के मांड्या जिले के बुकानाकेरे में 27 फरवरी 1943 को लिंगायत परिवार में येदियुरप्पा का जन्म हुआ। येदियुरप्पा का पूरा नाम बूकानाकेरे सिद्धलिंगप्पा येदियुरप्पा है। वे कर्नाटक के 25वें मुख्यमंत्री थे, जिन्होंने 30 मई 2008 को शपथ ग्रहण की थी। बता दें कि राज्य की राजनीति में लिंगायत वोट बैंक का खासा असर है। छात्र जीवन से ही वह राजनीति में सक्रिय रहे हैं।

1965 में सामाजिक कल्याण विभाग में प्रथम श्रेणी क्लर्क के रूप में नियुक्त येदियुरप्पा नौकरी छोड़कर शिकारीपुरा चले गए जहां उन्होंने वीरभद्र शास्त्री की शंकर चावल मिल में एक क्लर्क के रूप में कार्य किया। अपने कॉलेज के दिनों में वह आरएसएस का हिस्सा रहे थे। 1970 में उन्होंने सार्वजनिक सेवाएं शुरू की, जिसके बाद उन्हें इसी सीट का कार्यवाहक नियुक्त किया गया।

U2O5lhFI_400x400

साल 2007 में कर्नाटक में राजनीतिक उलटफेरों के बाद प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लागू हुआ, जिसके बाद जैसे-तैसे जेडीएस और बीजेपी ने आपसी मतभेदों को दूर किया। यह मतभेद येदियुरप्पा के लिए काफी सहायक साबित हुए और 12 नवंबर 2007 को बीजेपी ने राज्य की सत्तासीन पार्टी बनीं। येदियुरप्पा बीजेपी के एक ऐसे नेता हैं, जिनके बूते पर पार्टी ने पहली बार दक्षिण भारत में ना सिर्फ जीत का स्वाद चखा बल्कि सत्ता पर शासन भी किया। हालांकि यह बात और है कि येदियुरप्पा का शासनकाल अपने काम से ज्यादा विवादों के कारण सुर्खियों में रहा। तीन साल बाद खनन घोटाले में फंसने के बाद येदियुरप्पा की सत्ता चली गई।

2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान येदियुरप्पा ने अपनी अलग पार्टी बनाकर चुनाव लड़ा था। जिसकी वजह से बीजेपी को भारी नुकसान हुआ था और उसकी सरकार चली गई थी। 2013 के चुनाव में भाजपा को महज 40 सीटों से संतोष करना पड़ा था।

एक के बाद एक संकटों से उबरकर येदियुरप्पा ने खुद को पार्टी के अंदर राजनीतिक धुरंधर के रूप में साबित किया है। 


कमेंट करें