राजनीति

कर्नाटक में चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा दांव, लिंगायत को दी अलग धर्म की मान्यता

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
674
| मार्च 19 , 2018 , 18:48 IST

विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस तरह-तरह के हथकंडों का इस्तेमाल कर रही है। अब सत्तारूढ़ दल कांग्रेस ने लिंगायत को अलग धर्म की मान्यता देकर बड़ा दांव खेल दिया है। कांग्रेस के इस फैसले पर भारतीय जनता पार्टी ने इसकी निंदा करते हुए समाज को बांटने की राजनीति करने का आरोप लगाया है। वहीं, कांग्रेस ने इस पर हामी भरकर केंद्र की बीजेपी सरकार के खेमे में गेंद डाल दी है।

सोमवार सुबह ही लिंगायत समुदाय के धर्मगुरुओं ने मुख्यमंत्री सिद्धारमैया से मुलाकात की थी। उन्होंने एक बार फिर अपनी मांगें सीएम के सामने रखी थीं। अलग धर्म के अलावा समुदाय ने लिंगायतों को अल्पसंख्यकों का दर्जा देने की भी मांग की थी।

जानकारों की माने तो कांग्रेस के इस दांव से बीजेपी के लिए परेशानी खड़ी हो सकती है। कर्नाटक में लिंगायत समुदाय के लोगों की संख्या राज्य की कुल आबादी की 17 से 18 फीसदी है। बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा भी इसी समुदाय से आते हैं।

बीजेपी ने विवादित येदियुरप्पा को सीएम पद का दावेदार बनाकर इस समुदाय को लुभाने की कोशिश की थी। हालांकि, अब कांग्रेस ने नया दांव खेला है। राजनीतिक कारणों की वजह से बीजेपी कांग्रेस के इस कदम का विरोध कर रही है। इससे लिंगायतों के बीजेपी से रूठकर कांग्रेस के खेमे में जाने की अटकलें लगाई जा रही हैं।

बीजेपी प्रवक्ता मालविका ने आरोप लगाया है कि सिद्धारमैया लंबे समय से लिंगायतों को हिंदू धर्म से अलग करना चाहते थे। इस मुद्दे पर फैसला संसद में लिया जाएगा, सिद्धारमैया यह फैसला नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि कर्नाटक सरकार के इस फैसले से उसकी मंशा का पता चलता है।

इसे भी पढ़ें-: योगी सरकार के मंत्री का बयान: गरीबों के कल्याण पर नहीं, मंदिर पर है BJP का फोकस

लिंगायत समुदाय लंबे समय से मांग कर रहे थे कि उन्हें अलग धर्म का दर्जा दिया जाए। कर्नाटक सरकार ने नागमोहन कमेटी की सिफारिशों को स्टेट माइनॉरिटी कमीशन एक्ट की धारा 2डी के तहत मंजूर कर लिया।

अब इसकी अंतिम मंजूरी के लिए केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा जाएगा। वहीं, दूसरी ओर बीजेपी का पक्ष रहा है कि वह लिंगायतों को हिंदू धर्म का ही हिस्सा मानती रही है। ऐसे में बीजेपी फिलहाल कांग्रेस के इस दांव की काट तलाश रही है।


कमेंट करें