नेशनल

करतारपुर कॉरिडोर पर सियासी घमासान, क्रेडिट लेने की मची होड़

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1694
| नवंबर 26 , 2018 , 18:27 IST

भारत पाकिस्तान बॉर्डर पर करतारपुर साहिब कॉरिडोर को निर्माण किया जा रहा है। सोमवार को उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने इसकी नींव रखी। हालांकि, शिलान्यास का ये मंच राजनीतिक बयानबाजी का अखाड़ा बनकर रह गया। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस अवसर पर पाकिस्तानी सेना प्रमुख पर जमकर हमला बोला। तो वहीं क्रेंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान का शुक्रिया अदा किया।

हरसिमरत कौर पाकिस्तान के शिलान्यास कार्यक्रम में लेंगी हिस्सा

28 नवंबर को पाकिस्तान अपने क्षेत्र में इस कॉरिडोर की नींव रखेगा। इस मौके पर पाक ने सुषमा स्वराज, कैप्टन अमरिंदर सिंह को न्योता दिया है। लेकिन दोनों ने इस न्योते को ठुकरा दिया है। और अब इन दिनों की जगह भारत की ओर से हरसिमरत कौर पाकिस्तान जाएंगी। इसी मुद्दे पर इशारों इशारों में अमरिंदर ने उन्हें निशाना बनाया है।

पाकिस्तान हमारे जवानों को मार रहा है- ऐसे में मैं कैसे वहां चला जाऊं

शिलान्यास कार्यक्रम में अमरिंदर ने कहा कि बतौर सिक मैं इस कार्यक्रम में पाकिस्तान जाना चाहता हूं, लेकिन क्योंकि मैं पंजाब का मुख्यमंत्री हूं इसलिए मेरी ड्यूटी ये कहती हैं कि मैं वहां नहीं जाऊं। पाकिस्तान लगातार हमारे जवानों-लोगों को मार रहा है। कुछ दिन पहले ही अमृतसर के एक गांव में ग्रेनेड फेंका गया है ऐसे में कैसे पाकिस्तान चला जाऊं।

पाकिस्तान के हमे सख्त जवाब देने को मजबूर ना करे

पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा को आड़े हाथों लेते हुए कैप्टन ने कहा कि मैं भी सेना में रहा हूं, वो मेरे से जूनियर हैं। लेकिन पता नहीं वह किस तरह की फौज में हैं कि आम लोगों को निशाना बना रहे हैं। इसके आदे उन्होंने कहा कि पाकिस्तान हमें सख्त जवाब देने को मजबूर ना करे।

हरसिमरत कौर ने की इमरान खान की तारीफ

28 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास पर पाकिस्तान अकाली दल की नेता और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर जाएंगी। अपने कार्यक्रम में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की तारीफ की। वहीं उन्होंने कैप्टन अमरिंदर सिंह के भाषण की निंदा की।

सिद्धू के पाकिस्तान जाने पर हरसिमरत ने उन्हें गद्दार कहा था

बताते चलें कि जब नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान गए थे तब हरसिमरत ने उनपर जमकर निशाना साधा था। यहं तक कि उन्हें गद्दार भी कह दिया था। यही कारण रहा कि कांग्रेस के मंत्रियों ने हरसिमरत के पाकिस्तान जाने पर उन्हें निशाने पर लिया है।

सार्वजनिक मंच जिस तरह अमरिंदर ने पाकिस्तान के न्योते को ठुकराया है इससे साफ होता है कि वो ना सिर्फ पाकिस्तान को बल्कि अपने विरोधियों को भी सख्त संदेश दे रहे हैं। इशारों इशारों में उन्होंने साफ कर दिया है कि जो पाकिस्तान पंजाब में आंतकवाद फैला रहा है, वह उसके बुलावे पर नहीं जाएंगे। जबकि अकाली दल नेता हरसिमरत कौर पाकिस्तान जा रही हैं।

हरसिमरत के साथ ही अमरिंदर की ओर से नवजोत को भी संदेश गया है। ऐसा माना जा रहा है कि कैप्टन अमरिंदर और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच सबकुथ ठीक नहीं है, कई बार दोनों के बयान भी एक दूसरे से अलग ही होते हैं। ऐसे में अमरिंदर ने सिद्धू को संदेश दिया कि उनकी सरकार का मुखिया ही जब कार्यक्रम का बहिष्कार कर रहा है तो वह भी सोचकर ही फैसला लें।


कमेंट करें